ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडपुलिसवालों पर ऐक्शन, सरकारी नौकरी और... हल्द्वानी हिंसा में 6 की मौत के बाद जमीयत उलेमा-ए-हिंद की क्या मांग

पुलिसवालों पर ऐक्शन, सरकारी नौकरी और... हल्द्वानी हिंसा में 6 की मौत के बाद जमीयत उलेमा-ए-हिंद की क्या मांग

देश के प्रमुख मुस्लिम संगठन जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने इस हिंसा को लेकर शनिवार को प्रशासन पर 'बर्बरता' का आरोप लगाया और कहा कि मारे गए लोगों के परिजनों को उचित मुआवजा दिया जाए।

पुलिसवालों पर ऐक्शन, सरकारी नौकरी और... हल्द्वानी हिंसा में 6 की मौत के बाद जमीयत उलेमा-ए-हिंद की क्या मांग
Devesh Mishraभाषा,नई दिल्लीSat, 17 Feb 2024 07:05 PM
ऐप पर पढ़ें

हल्द्वानी में अवैध मदरसे पर बुलडोजर ऐक्शन के बाद बीते दिनों हिंसा भड़क गई थी। हमलावरों ने पुलिस की टीम पर अटैक कर दिया था। बनभुलपूरा थाने को आग के हवाले कर दिया गया था। इस हिंसा में छह लोगों की मौत हो गई। वहीं 100 से अधिक लोग घायल हो गए हैं। देश के प्रमुख मुस्लिम संगठन जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने इस हिंसा को लेकर शनिवार को प्रशासन पर 'बर्बरता' का आरोप लगाया और कहा कि मारे गए लोगों के परिजनों को उचित मुआवजा दिया जाए। संगठन की कार्य समिति में शनिवार को इस विषय समेत कुछ अन्य मुद्दों पर चर्चा की गई तथा राज्य सरकार से यह आग्रह किया गया कि जिम्मेदार पुलिसकर्मियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए।

जमीयत की ओर से जारी बयान के अनुसार, संगठन के प्रमुख मौलाना अरशद मदनी ने कहा , ''उत्तराखंड सरकार से मांग की गई है कि हल्द्वानी में जो निर्दोष लोग पुलिस की गोली से मारे गए हैं उनके परिवारों को न केवल उचित मुआवजा दिया जाए, बल्कि पीड़ित परिवारों के एक-एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी भी दी जाए ताकि उन्हें भुखमरी और प्रताड़ना से बचाया जा सके।'' उन्होंने कहा, ''गोलियां चलाने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाए... लोगों के खिलाफ बर्बरता की गई है।''

मदनी का कहना था, ''अगर राज्य सरकार पुलिसकर्मियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करती और पीड़ितों के लिए उचित मुआवजे की घोषणा नहीं करती है तो जमीयत उलेमा-ए-हिंद जल्द ही इसके खिलाफ अदालत जाएगी।'' गौरतलब है कि हल्द्वानी के बनभूलपुरा में अवैध रूप से बनाए गए एक मदरसे को ढहाने के बाद आठ फरवरी को इलाके में हिंसा भड़क गई थी। इस हिंसा में छह लोगों की मौत हो गई थी और पुलिस एवं पत्रकारों सहित 100 से अधिक लोग घायल हो गए थे। इस हिंसा का मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक बताया जा रहा है। अब्दुल फरार है। पुलिस को यह शक है कि वह विदेश भाग गया है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें