DA Image
1 जनवरी, 2021|5:59|IST

अगली स्टोरी

सेना भर्ती : रैली में फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल कर रहे थे 50 युवा, ऐसे पहुंचे हवालात

Fake degree racket busted

कोटद्वार के विक्टोरिया क्रॉस गब्बर सिंह कैंप में चल रही सेना भत्ती रैली के 13वें दिन देहरादून जिले की भर्ती के दौरान उत्तर प्रदेश के अलीगढ़, देवबंद, सहारनपुर, मथुरा, बुलन्दशहर के करीब 50 युवक फर्जी दस्तावेजों के साथ पकड़े गये। सैन्य अधिकारियों द्वारा की गई जांच में पता चला है कि युवाओं ने दलालों के माध्यम से 15 से 30 हजार रुपये में प्रमाण पत्र बनवाये हैं।

शुक्रवार को भर्ती प्रक्रिया के दौरान सेना अधिकारियों द्वारा अभ्यर्थियों के प्रमाण पत्रों की जांच की जा रही थी। इस दौरान कुछ युवकों के दस्तावेजों में अधिकारियों को गडबड़ी लगी तो इसकी सूचना सेना के उच्चाधिकारियों को दी, जिससे उच्चाधिकारियों में हड़कंप मच गया। जिसके बाद सभी युवकों को सेना द्वारा एक जगह पर एकत्रित कर सख्ती के साथ पूछताछ की गई। जांच में यह बात भी सामने आई कि सभी युवकों ने दलाल के माध्यम से फर्जी दस्तावेज बनाये थे।

जिसमें उनके शैक्षिक प्रमाण पत्र, मूल निवास प्रमाण पत्र आदि शामिल थे, जो कि उत्तराखंड से ही बनाए गए थे। युवकों ने बताया कि देहरादून में एक दलाल ने उन्हें सेना में भर्ती कराने का लालच दिया था। सेना के खुफिया विभाग की टीम ने युवकों से पूछताछ के बाद मामले की जांच शुरू कर दी है। उधर, सेना के भर्ती निदेशक कर्नल विनीत वाजपेयी ने बताया कि भर्ती रैली के दौरान पूरी पारदर्शिता अपनाई जा रही है। युवा दलालों के चक्कर में फंसकर फर्जी प्रमाणपत्रों के माध्यम से भर्ती होने का प्रयास करते हैं।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:indian army recruitment kotdwar 50 youths arrested while using faking document in recruitment rally