DA Image
1 नवंबर, 2020|12:52|IST

अगली स्टोरी

भारत-नेपाल से नोमैंस लैंड पर विवाद का हल निकालेगा सर्वे ऑफ इंडिया

करीब तीन माह पहले नोमैंस लैंड में कब्जे की स्थिति अब भी बरकरार है। इसे लेकर स्थानीय प्रशासन भी गंभीर है। जिला प्रशासन के माध्यम से सोमवार को सर्वे ऑफ इंडिया को पत्र भेजने की तैयारी की जा रही है। सर्वे ऑफ इंडिया, नेपाल के सर्वे ऑफ नेपाल से समन्वय कर विवाद का निपटारा करेगा। हालांकि ये काम दोनों देशों के आला अधिकारियों के स्तर से ही आगे बढ़ पाएगा।

बीती 23 जुलाई को भारत-नेपाल सीमा के ब्रह्मदेव स्थित नोमैंस लैंड पर नेपाली नागरिकों ने अवैध तरीके से कब्जा कर लिया था। नेपालियों ने विवादित भूमि पर तारबाड़ और पौधरोपण भी कर लिया था। नोमैंस लैंड के इस विवादित भूमि का मामला सुलझाने के लिए दोनों देशों के अधिकारियों ने डेढ़ माह पहले बनबसा में बैठक भी की थी।

लेकिन हालात जस के तस हैं। नेपाली नागरिक कब्जा हटाने को तैयार नहीं हैं। वहीं भारत की ओर से भी कठोर कदम इस मामले में नहीं उठाए गए हैं। सीमा के विवादित स्थल पर करीब 200 मीटर तक कब्जा जमाया हुआ है। अब स्थानीय प्रशासन की ओर से इस संबंध में सर्वे ऑफ इंडिया को पत्र लिखा जा रहा है। सर्वे ऑफ इंडिया विवाद का निपटारा करेगा। 


नेपाल सीमा के नोमैंस लैंड में अवैध कब्जे का मामला मेरे संज्ञान में है। इस संबंध में जिलाधिकारी के माध्यम से सोमवार को सर्वे ऑफ इंडिया को पत्र भेजा जा रहा है। फिलहाल यहां के सर्वे तक इस संबंध में कुछ नहीं कहा जा सकता है। इस दिशा में भविष्य में कुछ कहा जा सकता है। 
हिमांशु कफल्टिया, एसडीएम, टनकपुर 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:india nepal dispute no mans land issue resovle survey of india nedal government encroachment no mans land nepal champawat uttarakhand