DA Image
22 मई, 2020|6:54|IST

अगली स्टोरी

कोरोना: दो महीने से ससुराल में फंसी पत्नी और बेटी से मिलने हरियाणा से नैनीताल पहुंचे दामाद के लिए नहीं खोले दरवाजे

corona lockdown in patna

लॉकडाउन के कारण करीब दो महीने से ससुराल में फंसी पत्नी और दो साल की बेटी से मिलने के लिए एक युवक हरियाणा से कार चलाकर बुधवार रात नैनीताल पहुंचा। 

पर कोरोना संक्रमण से खौफजदा ससुरालवालों ने दामाद के लिए घर के दरवाजे तक नहीं खोले। मजबूरन युवक को दोस्त और ड्राइवर के साथ पूरी रात नैनीताल कोतवाली में काटनी पड़ी।

गुरुवार सुबह वह पत्नी-बेटी और ससुराल के लोगों से मिले बिना ही फरीदाबाद लौट गया। फरीदाबाद (हरियाणा) निवासी यज्ञ कुमार की नैनीताल में ससुराल है। लॉकडाउन से पहले ही उनकी पत्नी और दो साल की बेटी नैनीताल आ गए थे।

लॉकडाउन लागू होने के बाद दोनों यहीं रह रहे थे। बुधवार को यज्ञ प्रशासन की मंजूरी मिलने के बाद अपने एक दोस्त और ड्राइवर के साथ नैनीताल पहुंच गया। 

 

दस घंटे लगातार कार चलाकर पहुंचा नैनीताल
बुधवार सुबह फरीदाबाद से कार चलाकर करीब दस घंटे में 300 किलोमीटर का सफर पूरा कर यज्ञ और उसका दोस्त नैैनीताल पहुंचे थे। ससुराल के लोगों ने यज्ञ को पहले ही फोन कर नैनीताल नहीं आने की सलाह दी थी, पर इसे दरकिनार कर यज्ञ नैनीताल पहुंच गया।

इस बात से भड़के ससुरालियों ने यज्ञ को घर नहीं आने दिया। गुरुवार सुबह यज्ञ को पत्नी और बेटी को लिए बगैर फरीदाबाद लौटना पड़ा।


कार में सो रहे थे तीनों, पुलिस ले आई कोतवाली
ससुराल में एन्ट्री नहीं मिलने पर यज्ञ अपने दोस्त और ड्राइवर के साथ सड़क किनारे कार में ही लेट गए। गश्त कर रहे मल्लीताल कोतवाली के एसएसआई यूनुस खान ने पूछताछ की। यज्ञ ने उन्हें आपबीती बताई तो पुलिस तीनों को कार समेत मल्लीताल कोतवाली ले आई।  

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:in laws do not open door for son in law arrived to meet his wife and daughter from haryana to nainital amid lockdown 4 due to corona virus pandemic in uttarakhand