ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडउत्तराखंड के लोग पिछड़े, दिल्ली भी पिछड़ा; आईएमए पासिंग आउट परेड में यूपी के युवाओं ने फिर मारी बाजी

उत्तराखंड के लोग पिछड़े, दिल्ली भी पिछड़ा; आईएमए पासिंग आउट परेड में यूपी के युवाओं ने फिर मारी बाजी

भारतीय सैन्य अकादमी-आईएमए (IMA) से शनिवार को पासआउट होकर 314 जेंटलमैन कैडेट सेना में अफसर बनेंगे। यूपी के सर्वाधिक 50 जेंटलमैन कैडेट पासआउट होंगे। उत्तराखंड के युवाओं ने इस बार भी बढ़त बनाई है।

उत्तराखंड के लोग पिछड़े, दिल्ली भी पिछड़ा; आईएमए पासिंग आउट परेड में यूपी के युवाओं ने फिर मारी बाजी
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, कार्यालय संवाददाताFri, 09 Dec 2022 07:05 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भारतीय सैन्य अकादमी-आईएमए (IMA) से शनिवार को पासआउट होकर 314 जेंटलमैन कैडेट सेना में अफसर बनेंगे। यूपी के सर्वाधिक 50 जेंटलमैन कैडेट पासआउट होंगे। उत्तराखंड के युवाओं ने इस बार भी बढ़त बनाई है। तीसरे नंबर पर उत्तराखंड के 29 युवा भारतीय सेना का हिस्सा बनेंगे। आईएमए में शनिवार को होने वाली पासिंग आउट परेड (पीओपी) में कुल 344 जेंटलमैन कैडेट पासआउट होंगे, जिनमें 314 भारतीय और 30 विदेशी शामिल हैं। 

आईएमए की ओर से शुक्रवार को जारी सूची के अनुसार, 51 जेंटलमैन कैडेट के साथ यूपी टॉप पर है। 30 कैडेट के साथ हरियाणा दूसरे नंबर और 29 कैडेट के साथ उत्तराखंड तीसरे नंबर पर है। 22 कैडेट के साथ बिहार चौथे और महाराष्ट्र एवं पंजाब (21-21) पांचवें स्थान पर हैं।

सैन्य परंपरा को आगे बढ़ा रहे युवा 
पहाड़ी राज्य उत्तराखंड के युवा पीढ़ी दर पीढ़ी सैन्य परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं। सैनिक ही नहीं, जेंटलमैन कैडेट से सैन्य अफसर बनने का सफर भी पूरा कर रहे हैं। आबादी के हिसाब से उत्तराखंड देश में 20वें स्थान पर है। ऐसे में उत्तराखंड सैन्य अफसर देने में बड़े राज्यों से कहीं आगे है। बिहार, राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र जैसे राज्य पीओपी में कैडेट संख्या के मामले से उत्तराखंड से पीछे हैं। दिसंबर 2021 और जून 2022 में उत्तराखंड सैन्य अफसर देने में दूसरे नंबर पर रहा था।

जानिए, किस राज्य से कितने कैडेट
उत्तर प्रदेश से 51, हरियाणा से 30, उत्तराखंड से 29, बिहार से 24, महाराष्ट्र और पंजाब से 21-21, हिमाचल से 17, राजस्थान से 16, मध्यप्रदेश से 15, दिल्ली से 13, केरल से 10, जम्मू एंड कश्मीर और कर्नाटक से नौ-नौ, पश्चिम बंगाल से आठ, तमिलनाडु से सात, गुजरात से पांच, असम, छत्तीसगढ़ और आंध्र प्रदेश से चार-चार, मिजोरम से तीन, मणिपुर, झारखंड, तेलंगाना और चंडीगढ़ से दो-दो, त्रिपुरा, अरुणाचल, नगालैंड, ओडिशा, त्रिपुरा, लद्दाख और नेपाल मूल (भारतीय सेना) से एक-एक कैडेट भारतीय सेना का हिस्सा बनेंगे।

यहां से एक भी अफसर नहीं
गोवा, अंडमान निकोबार, मेघालय, पुडुचेरी और सिक्किम।

पिछली पीओपी में टॉप-5 राज्य
जून 2022 : यूपी से 50, उत्तराखंड से 33, बिहार से 28, हरियाणा से 25, महाराष्ट्र से 22 कैडेट पासआउट हुए

लेफ्टिनेंट जनरल योगेंद्र डिमरी होंगे रिव्यूइंग अफसर
इस बार दून स्थित आईएमए की पीओपी के रिव्यूइंग अफसर मध्य कमान के कमांडर (जीओसी इन सी) लेफ्टिनेंट जनरल योगेंद्र डिमरी होंगे। वे बतौर मुख्य अतिथि पीओपी की सलामी लेंगे। इस पीओपी को सोशल मीडिया और दूरदर्शन पर लाइव भी देखा जा सकता है।

30 विदेशी कैडेट भी पास आउट होंगे
आज भूटान से 13, मालदीव से तीन, नेपाल से दो, म्यांमार से एक, श्रीलंका से चार, सूडान से एक, तजाकिस्तान से दो, तंजानिया से एक, तुर्कमेनिस्तान से एक, वियतनाम से एक कैडेट समेत कुल 30 विदेशी कैडेट भी पास आउट होंगे।

युद्ध स्मारक पर शहीदों को किया नमन
आईएमए स्थित युद्ध स्मारक पर शुक्रवार को शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किए गए। यहां तलवार से सलामी देते जेंटलमैन कैडेट की साढ़े सात फीट की कांस्य प्रतिमा है। इसके पिछले हिस्से में मेहराब बनाए गए हैं, जिन पर 898 पूर्व जांबाज कैडेटों के नाम दर्ज हैं। इस युद्ध स्मारक का उद्घाटन 17 नवंबर 1999 को फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ ने किया था।