illegal bar operates in front of senior superintendent of police camp office in dehradun - Exclusive : ‘एसएसपी’ कैंप ऑफिस के सामने ‘अवैध बार’ DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Exclusive : ‘एसएसपी’ कैंप ऑफिस के सामने ‘अवैध बार’

आबकारी विभाग और पुलिस की सक्रियता के दावे को शराब के धंधेबाज ने राजधानी में ही आइना दिखा दिया है। शहर की राजपुर रोड पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) कैंप आफिस के सामने अवैध बार संचालित किया जा रहा है। रेस्टोरेंट में संचालित इस बार में बिना रोकटोक ग्राहकों को दर्जनों ब्रांड की शराब, बीयर, वाइन, वोडका आदि परोसी जा रही है। राजपुर रोड पर एसएसपी कैंप कार्यालय (आवास) के सामने वर्ल्ड ट्रेड टॉवर के तृतीय तल पर बीयरटेल्स रेस्टोरेंट हैं। रेस्टोरेंट के पास बार लाइसेंस नहीं है। इसके बावजूद इसका पब की तरह की संचालन किया जा रहा है। यहां ग्राहकों को खुलेआम मेन्यू देकर ग्राहकों को शराब परोसी जाती है। राजधानी में एसएसपी कैंप ऑफिस के सामने अवैध तरीके से चल रहे इस बार से पुलिस और आबकारी विभाग अनजान बने हुए हैं। जबकि, सप्ताह में शुक्रवार, शनिवार और रविवार रात उक्त रेस्टोरेंट में सुरा के शौकीनों की भीड़ उमड़ती है। 

 

30 मार्च को लिया था एक दिन के लिए लाइसेंस : आबकारी विभाग में दर्ज आंकड़ों के मुताबिक रेस्टोरेंट से निजी पार्टी आयोजन की बात कहते हुए आखिरी बार बीते तीस मार्च को वनडे बार लाइसेंस लिया गया था। इसके बाद रेस्टोरेंट में शराब परोसने का कोई लाइसेंस नहीं लिया गया। रेस्टोरेंट वाले कॉप्लेक्स में एक शैक्षिक संस्थान भी है।

 

नौ मार्च को दर्ज हुआ था मुकदमा
इस रेस्टोरेंट में लोकसभा चुनाव मतदान के दौरान घोषित ड्राई डे के दौरान भी बिना लाइसेंस शराब परोसी जा रही थी। बीते नौ मार्च को आबकारी विभाग ने यहां छापा मारकर अवैध शराब बरामद की थी। उस वक्त रेस्टोरेंट के खिलाफ आबकारी विभाग में मुकदमा दर्ज भी दर्ज किया गया था। हालांकि, मुकदमा दर्ज करने के बाद अफसरों ने शायद जांच के दौरान यहां रुख नहीं किया या जानबूझकर अनदेखा किया जा रहा है। तभी तो रेस्टोरेंट को खुलेआम बार बना दिया गया है। 

 

पैग से लेकर बोतल की बिक्री
इस अवैध बार में शराब के पैग नहीं बोतल तक ग्राहकों को बेची जाती है। रेस्टोरेंट के बार मेन्यू में व्हिस्की के 30 एमएल, 60 एमएल पैग के साथ ही पूरी बोतल बेचने के रेट भी दर्ज किए गए हैं। वहीं ग्राहकों को बीयर की भी छह-छह बोतल के पैकेज दिए गए हैं। 

 

चार पेज का बार मेन्यू
बीयरटेल्स रेस्टोरेंट में अवैध तरीके से चल रहे बार का मेन्यू भी चार पेज का है। ग्राहकों के रेस्टोरेंट में पहुंचते ही रेस्टारेंट के साथ ही बार का मेन्यू भी दिया जाता है। मेन्यू के मुताबिक 50 से अधिक ब्रांड यहां उपलब्ध हैं। इससे साफ है कि रेस्टोरेंट में अवैध तरीके से शराब का बड़ा स्टॉक रखा जाता है। रेस्टोरेंट में शराब कहां से लाई जाती है, यह भी बड़ा सवाल है। क्योंकि वैध बार लाइसेंस धारक आबकारी विभाग से मदिरा खरीदते हैं।

 

फूड एप पर शराब परोसने का जिक्र
फूड एप के साथ ही सोशल साइटों पर रेस्टोरेंट में बार संचालित होने का साफ जिक्र किया गया है। फूड डिलीवरी करने वाली एक ऐप पर रेस्टोरेंट में एल्कोहल परोसे जाने का जिक्र किया गया है। वहीं रेस्टोरेंट के कई सोशल साइटों पर बने पेज पर भी एल्कोहल उपलब्ध होने का प्रचार किया जा रहा है। 

 

किस अफसर की है बार को शह
आबकारी विभाग ने लोकसभा चुनाव के दौरान जब इस रेस्टोरेंट में शराब पकड़ी तो मुकदमे दर्ज करने के साथ ही रेस्टोरेंट बंद कराने की तैयारी की गई थी। सूत्रों के मुताबिक एक वरिष्ठ नौकरशाह और सफेदपोश की शह के चलते आबकारी के अफसर बैकफुट पर आ गए। यहां खुलेआम शराब परोसने के बावजूद पुलिस और आबकारी अफसर चुप हैं।

 

बीयर टेल्स का बार लाइसेंस चेक किया जाएगा। बिना बार लाइसेंस के शराब परोसी जा रही है तो कानूनी कार्रवाई के साथ ही रेस्टोरेंट का लाइसेंस भी रद कराया जाएगा।                  
निवेदिता कुकरेती, एसएसपी

 

बीयरटेल्स रेस्टोरेंट के लिए कोई बार लाइसेंस जारी नहीं किया गया है। वहां अवैध तरीके से शराब परोसी जा रही है तो यह कानूनी अपराध है। रेस्टोरेंट की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।
मनोज उपाध्याय, जिला आबकारी अधिकारी

 

 

 
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:illegal bar operates in front of senior superintendent of police camp office in dehradun