DA Image
26 अक्तूबर, 2020|1:38|IST

अगली स्टोरी

नरभक्षी गुलदार के शिकार को शिकारी दल रवाना, बालिका को बना चुका है निवाला 

leopard hidden in bushes attacked seven including daroga and forest guard

सोमवार देरशाम गैरबारम गांव में नरभक्षी गुलदार के हमले में मारी गई बालिका के शव का मंगलवार को पोस्टमार्टम किया गया। ग्रामीणों के आक्रोश पर प्रशासन व वन विभाग ने गुलदार को मारने के लिए शिकारी दल को मौके पर बुलाया और बालिका के परिजनों को तत्काल दिए जाने वाले मुआवजे की कार्यवाही शुरू कर दी थी।

बताते चलें कि बीते सोमवार की देर शाम गैरबारम गांव के देवेंद्र सिंह की 12 वर्षीय पुत्री दृष्टि को गोशाला से घर आते वक्त गुलदार ने अपना शिकार बना दिया था।

इस दर्दनाक हादसे से गांव में कोहराम मच गया। सूचना पर रात्रि में ही वनक्षेत्राधिकारी जुगलकिशोर चौहान वनकर्मियों के साथ मौके पर पहुंच गए थे।

मंगलवार सुबह विधायक मुन्नी देवी शाह,ब्लॉक प्रमुख प्रमुख यशपाल सिंह नेगी,जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण रावत,एसडीएम केएस नेगी,थानाध्यक्ष थराली ध्वजवीर पंवार , देवराज रावत,गोविंद सिंह भंडारी,भाजपा मंडल अध्यक्ष एम एन चंदोला समेत कई जनप्रतिनिधि गैरबारम गांव पहुंचे,जहां उन्होंने इस हादसे से व्यथित परिजनों का ढांढस बंधाया।

इस दौरान ग्रामीणों ने आक्रोश जताया कि नरभक्षी गुलदार  के आतंक से लोग अपनो को खोते जा रहे हैं, लेकिन प्रशासन व  वन विभाग गुलदार को मारने के लिए कोई कार्यवाही नहीं कर रहा है। ग्रामीणों ने कहा कि जब तक नरभक्षी गुलदार को मारने के लिए शिकारी दल यहां तैनात नहीं किया जाता है, तब तक वे बालिका के शव को पोस्टमार्टम के लिए नहीं ले जाने देंगे।

जनप्रतिनिधियों की मध्यस्थता तथा वनक्षेत्राधिकारी के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने शव को पोस्टमार्टम के लिए जाने दिया। राजस्व उपनिरीक्षक विनोद कुमार ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। दोपहर बाद मंगलवार को जिले के मशहूर शिकारी लखपतसिंह रावत अपने सहायक बीरेन्द्र सिंह के साथ गुलदार के आतंकग्रस्त क्षेत्र केलिए रवाना हो गए थे।

 

नारायणबगड़ में गुलदार के हमले से दहशत
नारायणबगड़। नारायणबगड़ ब्लाक के त्यूला मगेटी के बाद अब गैरबारम गांव में नरभक्षी गुलदार ने एक बच्ची को मार डाला। इस घटना से गैरबारम क्षेत्र में लोगों में दहशत बनी हुई है। लोगों में वन विभाग को लेकर गुस्सा है।

पिछले दिनों नरभक्षी गुलदार ने ग्राम पंचायत त्यूला के मगेटी तोक में एक नेपाली मूल के बच्चे को अपना निवाला बना दिया था। उसके कुछ दिनों बाद मगेटी में ही गुलदार ने एक युवती को भी अपना निवाला बनाने का प्रयास किया था।

अब सोमवार शाम ग्राम पंचायत गैरबारम के देवेन्द्र सिंह प्रधान प्रतिनिधि की 11 वर्षीय बच्ची दृष्टि को गुलदार ने अपना निवाला बना लिया।

क्षेत्र के राजस्व उपनिरीक्षक विनोद कुमार ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि उन्हें ग्रामीणों द्वारा घटना की जानकारी दी गई है। उन्होंने बताया कि ग्रामीणों के द्वारा दूरभाष पर बताया गया है कि ग्रामीणों ने काफी खोजबीन के बाद बच्ची का शव बरामद कर लिया गया है।  

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:hunter teams went to kill man eater leopard in after leopard kills in narayanbagad in chamoli