ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडहे भगवान! देवता और मां काली की अराधना, टनल से बाहर निकालने को ऑस्ट्रेलिया एक्सपर्ट का धासूं रेस्क्यू प्लान

हे भगवान! देवता और मां काली की अराधना, टनल से बाहर निकालने को ऑस्ट्रेलिया एक्सपर्ट का धासूं रेस्क्यू प्लान

ऑस्ट्रेलिया से यात्री विमान में दो दिन की लंबी यात्रा कर वह भारत पहुंचे। यहां जौलीग्रांट एयरपोर्ट से सरकारी हेलीकॉप्टर से उन्हें उत्तरकाशी पहुंचाया गया। देवता और मां काली की भी अराधाना की।

हे भगवान! देवता और मां काली की अराधना, टनल से बाहर निकालने को ऑस्ट्रेलिया एक्सपर्ट का धासूं रेस्क्यू प्लान
Himanshu Kumar Lallउत्तरकाशी, हिन्दुस्तानTue, 21 Nov 2023 09:31 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तरकाशी टलन हादसे में पिछले 9 दिन से फंसे 41 लोगों को बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। रेस्क्यू ऑपरेशन को गति देने के लिए अंतरराष्ट्रीय से एक्सपर्ट को भी बुलाया गया है। अंतरराष्ट्रीय सुरंग विशेषज्ञ प्रो.अर्नोल्ड डिक्स भी सिलक्यारा पहुंचकर बचाव अभियान में जुड़ गए हैं।

ऑस्ट्रेलिया से यात्री विमान में दो दिन की लंबी यात्रा कर वह भारत पहुंचे। यहां जौलीग्रांट एयरपोर्ट से सरकारी हेलीकॉप्टर से उन्हें उत्तरकाशी पहुंचाया गया। दिलचस्प बात यह है कि सिलक्यारा में उन्होंने सबसे पहले मां काली की आराधना की। सुरंग के मुहाने पर बाबा बौखनाग के मंदिर में माथा टेका।

उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफार्म ‘लिंक्डइन’ पर लिखा, ‘मैं हिंदुओं के लिए सबसे पवित्र स्थल पर हूं। दुनिया की सभी संस्कृतियों में सुरंग सुरक्षा के लिए प्रार्थना की परंपरा है और यह सैंकड़ों वर्षों से चली आ रही है। दुनिया की सभी सुरंगों में सुरंग बनाने वालों का प्रार्थना स्थल मिलेगा, पश्चिमी देशों में भी।

सुरंग में प्रवेश से पहले इस पवित्र स्थान के प्रति सम्मान प्रकट करते हुए मैंने हिदू देवी काली से 41 लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने की प्रार्थना की।’ भूवैज्ञानी इंजीनियर अर्नोल्ड इंटरनेशनल टनलिंग एंड अंडरग्राउंड स्पेस एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं।

वह शुरू से हादसे पर नजर बनाए थे। सुरंग निर्माण और आपातकाल स्थिति में लंबा अनुभव है। केंद्र सरकार के अनुरोध पर अर्नोल्ड यहां आए हैं। उम्मीद जताई जा रही है कि टनल के अंदर फंसे लोगों को जल्द ही बाहर सुरक्षित निकाल लिया जाएगा। 

टनल में फंसे लोगों की सामने आया वीडियो-फोटो
उत्तरकाशी जिले के सिलक्यारा टनल में फंसे41 लोगों का 10वें दिन वीडियो सामने आया है। राहत की बात यह है कि सभी लोग टनल के अंदर सुरक्षित हैं। रेस्क्यू अभियान दल और टनल के अंदर फंसे लोगों की वॉकी-टॉकी से बातचीत भी हुई है। सोमवार देर रात टनल के अंदर लोगों को बोतल में भरकर खिचड़ी भिजवाई गई थी।  

बचाव अभियान में बड़ी प्रगति हो रही: डिक्स
अर्नोल्ड डिक्स ने सोमवार को लिखा, दूसरी लाइफ लाइन टनल आरपार हो गई है। बचाव अभियान बड़ी प्रगति पर है। माहौल उल्लासपूर्ण है। हिमालयन भूविज्ञान के शीर्ष विशेषज्ञों के साथ विकल्पों पर चर्चा की है। पैदल पहाड़ पर चढ़कर जायजा लिया।

तीन दिन पहले आए भूकंप और मलबा आने के कारणों के जवाब तलाशे जा रहे हैं। दुनियाभर के विशेषज्ञ इसके लिए प्रतिबद्ध हैं। नोडल अधिकारी डॉ. नीरज खैरवाल, एनएचएआईडीसीएल के एमडी महमूद अहमद, निदेशक अंशु मनीष खलको, डीएम अभिषेक रूहेला ने उनके साथ विचार-विमर्श किया।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें