Saturday, January 22, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडहरिद्वार कुंभ : अखाड़ा परिषद ने मेला प्रशासन से कुंभ गाइडलाइन मांगी

हरिद्वार कुंभ : अखाड़ा परिषद ने मेला प्रशासन से कुंभ गाइडलाइन मांगी

मुख्य संवाददाता,हरिद्वारShivendra Singh
Sun, 31 Jan 2021 09:01 AM
हरिद्वार कुंभ : अखाड़ा परिषद ने मेला प्रशासन से कुंभ गाइडलाइन मांगी

अखाड़ा परिषद अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी ने मेला प्रशासन से कहा है कि वह केंद्र सरकार द्वारा जारी कुंभ गाइडलाइन की प्रतियां सभी तेरह अखाड़ों को पत्र के साथ दें। इसके बाद तेरह अखाड़े गाइड लाइन पर बैठक करके सरकार को अपनी राय देंगे। यह बात श्रीमहंत नरेंद्र गिरी ने शनिवार को बैरागी कैंप में तीनों अणियों के श्रीमहंत के साथ विचार विमर्श कर मेलाधिकारी दीपक रावत से कही। 

शनिवार को श्रीमहंत नरेंद्र गिरी कुंभ व्यवस्थाओं को लेकर बैरागी कैंप पहुंचे। जहां उन्होंने श्रीपंच निर्वाणी अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत धर्मदास, श्रीपंच निर्मोही अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत राजेंद्र दास, श्रीपंच दिगंबर अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत किशन दास आदि महंतों के साथ बैठक करके केंद्र सरकार की कोरोना गाइड लाइन को लेकर मंथन किया। इस दौरान मेलाधिकारी दीपक रावत भी महंतों से मिलने बैरागी कैंप पहुंचे। निर्मोही अखाड़े में बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में नरेंद्र गिरी ने कहा कि बैठक में मौखिक वार्ता की गई है।

हाईकोर्ट के दिशा निर्देश, केंद्र व राज्य सरकार की कुंभ को लेकर जारी गाइड लाइन को लिखित रूप से अध्यक्ष, महामंत्री के अलावा तेरह अखाड़ों के पदाधिकारियों के नाम दी जाए। इसके बाद अखाड़ों की एक बैठक बुलाकर रायशुमारी की जाएगी। मेलाधिकारी ने आश्वासन दिया है कि वह संबंधित दस्तावेज जल्द तेरह अखाड़ों को देंगे।  

किन्नरों का अखाड़े से कोई संबंध नहीं
श्रीपंच निर्मोही अनी अखाड़े के अध्यक्ष श्रीमहंत राजेंद्र दास का कहना है कि किन्नर कोई दल समूह नहीं है बल्कि व्यक्ति विशेष है। इनका अखाड़ों से कोई लेना देना नहीं है। ये वैमनस्यता फैलाने का काम कर रहे हैं। पत्रकारों से बातचीत में कहा कि अखाड़ा संतों की परंपरा का शब्द है। किन्नर अपनी मर्यादें में रहें। किन्नर अखाड़े शब्द को छोड़े और जूना अखाड़े से भी अनुरोध करूंगा कि वे अखाड़े की परंपरा से छेड़छाड़ कर वे किन्नरों को सहयोग न करें। 

बड़ा उदासीन अखाड़े ने जताई नाराजगी
अखाड़ परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरी श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन में संतों से चर्चा करते हुए कहा कि कुंभ मेला शुरू होने का समय लगातार नजदीक आ रहा है। मेला प्रशासन कनखल से अतिक्रमण हटाकर पेशवाई मार्गों को दुरूस्त करें। श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन के श्रीमहंत महेश्वरदास एवं मुखिया महंत दुर्गादास ने कहा कि कुंभ मेला शुरू होने वाला है। लेकिन अखाड़ों को मेला प्रशासन से कोई सहयोग नहीं मिल रहा है। अखाड़े अपने स्तर से कुंभ की तैयारियां कर रहे हैं।

epaper

संबंधित खबरें