ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडहथौड़ा, फावड़ा और बेलचे का सहारा, उत्तरकाशी टनल में 41 तक पहुंचने को मैन्युअल खुदाई पर भरोसा

हथौड़ा, फावड़ा और बेलचे का सहारा, उत्तरकाशी टनल में 41 तक पहुंचने को मैन्युअल खुदाई पर भरोसा

सिलक्यारा सुरंग में 15 दिन से फंसे मजदूरों को सुरक्षित निकालने के लिए सोमवार से मैनअुल खुदाई शुरू हो सकती है। यह खुदाई उस तरफ से होगी, जहां ऑगर मशीन 48 मीटर पाइप टनल बनाने के बाद फेल हो गई थी।

हथौड़ा, फावड़ा और बेलचे का सहारा, उत्तरकाशी टनल में 41 तक पहुंचने को मैन्युअल खुदाई पर भरोसा
Himanshu Kumar Lallउत्तरकाशी, हिन्दुस्तानMon, 27 Nov 2023 09:51 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तरकाशी की सिलक्यारा टनल में फंसे मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए इंतजार लंबा होता जा रहा है। रविवार को बचाव कार्य तीसरे सप्ताह में प्रवेश कर गया है। अब परिजनों के चेहरे पर भी चिंता साफ दिखने लगी है।  

सिलक्यारा सुरंग में 15 दिन से फंसे मजदूरों को सुरक्षित निकालने के लिए सोमवार से मैनअुल खुदाई शुरू हो सकती है। यह खुदाई उस तरफ से होगी, जहां ऑगर मशीन 48 मीटर पाइप टनल बनाने के बाद फेल हो गई थी।

यदि सभी कुछ प्लान के तहत चला तो रेस्क्यू टीमें मंगलवार को मजदूरों तक पहुंच सकती हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि करीब 10 मीटर मैनुअल खुदाई में 25 से 30 घंटे लग सकते हैं। राहत बचाव कार्यों के लिए बनाए गए नोडल अफसर डॉ. नीरज खैरवाल ने रविवार को पत्रकारों से बातचीत में बताया कि पाइप में फंसे ऑगर मशीन की ब्लेड एवं साफ्ट को काटने का कार्य जारी है।

उन्होंने बताया पाइप से अब 8.15 मीटर के ऑगर मशीन की ब्लेड एवं साफ्ट के हिस्से को निकाला जाना बाकी है। जिस तेजी से ऑगर मशीन को काटा जा रहा है, उसके हिसाब से जल्द यह काम पूरा होने की उम्मीद है। खैरवाल ने बताया कि पाइप में फंसी ऑगर मशीन को निकाले जाने के बाद मैनुअल खुदाई की जाएगी।

इसके लिए दिल्ली से विशेषज्ञों की सात सदस्यीय टीम रविवार को ही सिलक्यारा पहुंच चुकी है। इस टीम के दो-दो सदस्य 800 मीटर के पाइप में जाएंगे और मैनुअल खुदाई करेंगे। इस मौके पर एनएचआईडीसीएल के एमडी महमूद अहमद, महानिदेशक सूचना बंशीधर तिवारी, डीएम उत्तरकाशी अभिषेक रूहेला आदि मौजूद रहे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें