ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडहल्द्वानी में हिंसा करने वालों पर एक और बड़ी चोट, DM ने अब कमाई का रास्ता भी किया बंद

हल्द्वानी में हिंसा करने वालों पर एक और बड़ी चोट, DM ने अब कमाई का रास्ता भी किया बंद

हल्द्वानी हिंसा केे बाद पुलिस के स्तर से चिह्नित इन लोगों के वाहन गौला के खनन कार्य में पंजीकृत हैं, तो उनका पंजीकरण निरस्त किया जाएगा। डीएम के आदेश के बाद वन निगम इनके दस्तावेज खंगाल रहा है।

हल्द्वानी में हिंसा करने वालों पर एक और बड़ी चोट, DM ने अब कमाई का रास्ता भी किया बंद
Himanshu Kumar Lallहल्द्वानी, हिन्दुस्तानMon, 19 Feb 2024 09:23 AM
ऐप पर पढ़ें

Haldwani News Hindi: हल्द्वानी  के  वनभूलपुरा में हुए उपद्रव में लिप्त पाए गए दंगाइयों पर आर्थिक चोट के बाद अब फिर जोरदार ऐक्शन होने वाला है। हल्द्वानी दंगे में शामिल करीब 150 लोगों के गौला खनन कार्य में लगे वाहनों के रजिस्ट्रेशन रद किए जाएंगे।

डीएम के आदेश के बाद वन निगम ने कार्यवाही शुरू कर दी है। पुलिस ने अभी तक 54 ऐसे लोग चिह्नित कर लिए हैं। दो दिन पहले डीएम वंदना की अध्यक्षता में खनन समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया था। वनभूलपुरा के ज्यादातर लोग गौला के खनन कार्य से जुड़े हुए हैं।

कई के वाहन गौला नदी में खनन कार्य के लिए पंजीकृत हैं। इन वाहन मालिकों पर वनभूलपुरा के उपद्रव की गाज गिरने वाली है। पुलिस के स्तर से चिह्नित इन लोगों के वाहन गौला के खनन कार्य में पंजीकृत हैं, तो उनका पंजीकरण निरस्त किया जाएगा।

डीएम के आदेश के बाद वन निगम इनके दस्तावेज खंगाल रहा है। फिलहाल ऐसे करीब 54 से ज्यादा लोग चिह्नित किए जा चुके हैं। वन निगम के अनुसार, इनकी संख्या 150 से अधिक है। रजिस्ट्रेशन निरस्त होने के बाद ये लोग गौला के खनन से बेदखल कर दिए जाएंगे।

एक बुग्गी गेट खुला, दो के खुलने का इंतजार
वनभूलपुरा की हिंसा के चलते गौला में बुग्गी से खनन के लिए बनाए गए तीनों गेट बंद कर दिए गए थे। गेट बंद होने से बुग्गी चालकों के लिए दिक्कत खड़ी हो गई है। हालांकि शनिवार को राजपुरा गेट खुल गया, लेकिन अभी टनकपुर और इंदिरानगर गेट बंद हैं।

इन गेटों से करीब 300 बुग्गी के जरिए उपखनिज का उठान होता है। राजपुरा बुग्गी गेट शनिवार से खुलने से बुग्गी चालकों को थोड़ी राहत मिली है। सोमवार को सभी गेट खुलने की उम्मीद है।

जिला प्रशासन के आदेश के बाद उन लोगों के वाहन रजिस्ट्रेशन की डिटेल खंगाली जा रही है, जो उपद्रव में चिह्नित किए गए हैं। अभी तक ऐसे करीब 54 से ज्यादा लोग चिह्नित किए गए हैं। इनकी संख्या 150 तक होने की संभावना है। रजिस्ट्रेशन निरस्त होने के बाद ये लोग अग्रिम आदेश तक गौला से खनन नहीं कर पाएंगे।
धीरेश बिष्ट, डीएलएम, वन निगम

कर्फ्यू में प्रशासन ने दी और राहत
हल्द्वानी के वनभूलपुरा में बीती आठ फरवरी को भड़की हिंसा के बाद लगाए कर्फ्यू में प्रशासन ने और राहत दी है। डीएम वंदना सिंह की ओर से जारी आदेश के अनुसार वनभूलपुरा थाना क्षेत्र में अब कर्फ्यू रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तक ही प्रभावी रहेगा। इससे पहले डीएम ने सुबह छह से रात आठ बजे तक कर्फ्यू में ढील दी थी।

तीन घंटे तक चली छठे वांछित के घर कुर्की
हल्द्वानी के वनभूलपुरा में हुई हिंसा के फरार चल रहे आखिरी वांछित नामजद आरोपी एजाज की संपत्ति कुर्क की कार्रवाई रविवार को पूरी हो गई। करीब तीन घंटे तक एजाज के घर पर कुर्की की कार्रवाई चली। प्रक्रिया पूरी होने के बाद उसकी मां और भाई वहां पहुंचे। एजाज और उसके दो भाई फरार हैं। हल्द्वानी हिंसा में नौ वांटेड आरोपियों के खिलाफ कोर्ट से संपत्ति कुर्क का आदेश मिला है।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें