ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडपेट्रोल बम, शटर डाउन और सिर में गोली; हल्द्वानी हिंसा के अबतक के 5 सबसे बड़े अपडेट

पेट्रोल बम, शटर डाउन और सिर में गोली; हल्द्वानी हिंसा के अबतक के 5 सबसे बड़े अपडेट

अबतक 5 लोगों के मौत की पुष्टि की जा चुकी है। तीन सौ से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। इनमें 100 से ज्यादा पुलिसवाले हैं। कई पुलिसकर्मियों की तस्वीरें सामने आई हैं जिनमें वो जख्मी हालत में दिख रहे हैं।

पेट्रोल बम, शटर डाउन और सिर में गोली; हल्द्वानी हिंसा के अबतक के 5 सबसे बड़े अपडेट
Devesh Mishraलाइव हिन्दुस्तान,हल्द्वानीFri, 09 Feb 2024 05:34 PM
ऐप पर पढ़ें

हल्द्वानी में हिंसा भड़कने के बाद कर्फ्यू लगा दिया गया है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात है। उपद्रव मचाने वालों को देखते ही गोली मार देने का आदेश जारी कर दिया गया है। स्कूल-कॉलेज, बाजार-दुकान, इंटरनेट समेत पूरा शहर बंद हो गया है। हल्द्वानी 'लॉकडाउन' वाले दिनों की तरह दिख रहा है। दरअसल, गुरुवार को पुलिस नगर निगम की टीम के साथ बनभूलपुरा इलाके में अवैध मदरसा और नमाज वाली जगह को तोड़ने गई थी। आक्रोशित भीड़ ने पुलिस पर अटैक कर दिया। पुलिस की दर्जनों गाड़ियों के साथ-साथ एक थाने को आग के हवाले कर दिया गया। देखते ही देखते पूरे इलाके से धुआं उठने लगा। आइए जानते हैं इस हिंसा के अबतक के 5 सबसे बड़े अपडेट...

पेट्रोल बम और छतों पर पत्थर
नैनीताल की जिलाधिकारी वंदना सिंह ने बताया कि 'इस हिंसा को देखकर ऐसा लगता है कि इसकी प्लानिंग पहले से की गई थी।' दरअसल, मदरसे के पास बुलडोजर लेकर पहुंची पुलिस के ऊपर आसमान से पत्थर बरसने लगे। पुलिस और नगर निगम की टीम पर उपद्रवियों ने पेट्रोल बम फेंकना शुरू कर दिया। देखते ही देखते दर्जनों पुलिसवाले घायल हो गए और उनकी गाड़ियां धूं-धूंकर जलने लगीं।

'लॉकडाउन' जैसा माहौल
उपद्रवियों ने बनभूलपुरा थाने को आग के हवाले कर दिया। आक्रोशित भीड़ को कंट्रोल करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े, लाठीचार्ज भी किया गया। लेकिन जब उन्हें काबू नहीं किया जा सका तब देखते ही गोली मार देने का आदेश जारी कर दिया गया। इसी के साथ पूरे जिले में कर्फ्यू लगा दिया गया। स्कूल-कॉलेज, इंटरनेट, के साथ-साथ बाजारों में दुकानों का शटर डाउन कर दिया गया। अगले आदेश तक अस्पताल के अलावा कुछ भी खोले जाने का परमिशन नहीं दिया गया है।

सिर में गोली
खबर लिखने तक 5 लोगों के मौत की पुष्टि की जा चुकी है। वहीं इस हादसे में तीन सौ से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं। इनमें 100 से ज्यादा पुलिसवाले हैं। कई पुलिसकर्मियों की तस्वीरें सामने आई हैं जिनमें वो जख्मी हालत में दिख रहे हैं। इस हिंसा में एक बाप-बेटे की भी मौत हो गए है। 16 साल के लड़के के सिर में गोली लगी है। मृतक की पहचान अनस के रूप में हुई है।

जिंदा जलाने की कोशिश
नैनीताल की जिलाधिकारी ने बताया कि कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस वहां पहुंची थी। उन्होंने बताया कि आक्रोशित भीड़ ने पुलिस स्टेशन को आग के हवाले कर दिया और पुलिसवालों को जिंदा जलाने की कोशिश की गई। पुलिस और नगर निगम के साथ-साथ पत्रकारों की गाड़ियों में भी आग लगा दी गई।

हाई अलर्ट जारी
इस हिंसा के बाद पूरे उत्तराखंड में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बताया कि एक-एक उपद्रवियों की पहचान की जाएगी और उनके खिलाफ सख्त ऐक्शन लिया जाएगा। हिंसा के तुरंत बाद सीएम धामी ने एक हाई लेवल की मीटिंग की थी और लोगों से शांति बनाने की अपील की थी। फिलहाल हल्द्वानी में कर्फ्यू लगा दिया गया है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें