ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडमदरसा, बुलडोजर और छतों पर पत्थर; हल्द्वानी में भड़की हिंसा की इनसाइड स्टोरी

मदरसा, बुलडोजर और छतों पर पत्थर; हल्द्वानी में भड़की हिंसा की इनसाइड स्टोरी

मदरसे और नमाज वाली जगह को तोड़ने पहुंची पुलिस पर आक्रोशित भीड़ ने हमला कर दिया। पुलिस पर भीड़ ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। पुलिस की कई गाड़ियों, बसों और अन्य वाहनों को आग के हवाले कर दिया।

मदरसा, बुलडोजर और छतों पर पत्थर; हल्द्वानी में भड़की हिंसा की इनसाइड स्टोरी
Devesh Mishraलाइव हिन्दुस्तान,हल्द्वानीThu, 08 Feb 2024 10:33 PM
ऐप पर पढ़ें

Haldwani madrasa: हिंसा के बाद उत्तराखंड का हल्द्वानी धधकने लगा है। कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया है। अब तक दस पुलिसकर्मी बुरी तरह घायल हो गए हैं। बनभूलपुरा थाने में आग लगा दी गई है। गुरुवार की शाम भड़की इस हिंसा की तैयारी कुछ देर पहले ही शुरू कर दी गई थी। दरअसल, बनभूलपुरा इलाके के मलिका बगीचा के मदरसे और नमाज वाली जगह पर बुलडोजर पहुंच गया। पुलिस के साथ नगर निगम की टीम और कुछ पत्रकार भी मौजूद थे। मदरसा और नमाज वाली जगह अवैध भूमि पर बनाई गई थी। पुलिस की टीम ने जैसे ही बुलडोजर ऐक्शन शुरू किया वैसे ही उनपर अटैक हो गया। 

हिंसा की इनसाइड स्टोरी
मदरसे और नमाज वाली जगह को तोड़ने पहुंची पुलिस पर आक्रोशित भीड़ ने हमला कर दिया। पुलिस पर भीड़ ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। पुलिस की कई गाड़ियों, बसों और अन्य वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया। इलाके से धुआं उठने लगा। बचाव में पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े, भीड़ पर लाठीचार्ज किया। लेकिन इस हिंसक झड़प के पहले नाराज भीड़ ने विरोध प्रदर्शन किया था, उनकी पुलिस के साथ झड़प भी हुई थी। पुलिस ने जब मदरसा तोड़ना शुरू किया तब गुस्से में भीड़ ने बैरिकेडिंग तोड़कर अटैक कर दिया।

छतों पर पहले से पत्थर
इस हिंसक झड़प में दस पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। वहीं एक महिला बुरी तरह से जख्मी बताई जा रही है। कई इलाकों में आगजनी हुई है। जानकारी के मुताबिक, पुलिस और हमलावरों में यह झड़प करीब ढाई घंटे तक चला। यही नहीं मदरसे और नमाज वाली जगह के आसपास मौजूद घरों के छतों पर पत्थर रखे गए थे। पुलिस ने जैसे ही बुलडोजर ऐक्शन शुरू किया वैसे ही आसमान से पत्थर बरसने लगे। इसके बाद चारों तरफ से आक्रोशित भीड़ ने अटैक कर दिया। 

जानकारी के मुताबिक, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस घटना के बाद एक हाई लेवल की मीटिंग बुलाई है। स्थिति को कंट्रोल करने के लिए कई थानों से पुलिस भेजी गई है। दरअसल, जिस मदरसे और नमाज वाली जगह पर पुलिस आज बुलडोजर चलाने गई थी, वे अवैध भूमि पर बने हैं। इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमें देखा जा सकता है कि इलाके में चारों तरफ धुआं उठ रहा है। भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई है। कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया है। इस घटना में अब तक 10 पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें