ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडहल्द्वानी: 3 घंटे में जमकर हुआ बवाल, पुलिस-प्रशासन की फूंकी 100 गाड़ियां-300 घायल

हल्द्वानी: 3 घंटे में जमकर हुआ बवाल, पुलिस-प्रशासन की फूंकी 100 गाड़ियां-300 घायल

वनभूलपुरा के मलिक के बगीचे की कार्रवाई का हर तरीके से विरोध करने के लिए सैकड़ों युवा, छोटे बच्चे और महिलाएं पहले से ही तैयार थीं। हर गली में एकत्र भीड़ ने पुलिसकर्मियों पर पथराव किया गया।

हल्द्वानी: 3 घंटे में जमकर हुआ बवाल, पुलिस-प्रशासन की फूंकी 100 गाड़ियां-300 घायल
Himanshu Kumar Lallहल्द्वानी, हिन्दुस्तानThu, 08 Feb 2024 10:24 PM
ऐप पर पढ़ें

हल्द्वानी में अतिक्रमण के खिलाफ ऐक्शन पर गुरुवार को जमकर बवाल हुआ है।  मस्जिदऔर मदरसे को तोड़े जाने से नाराज लोगों ने कार्रवाई का जमकर विरोध किया। तीन घंटे में करीब 100 से अधिक दोपहिया और चौपहिया वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया।

चारों तरफ से हो रही पत्थरबाजी में करीब 300 पुलिसकर्मी, हल्द्वानी एसडीएम, तहसीलदार समेत कई लोग घायल हुए। देर रात तक बेस अस्पताल समेत कई निजी अस्पतालों में घायलों का इलाज कराया गया।वनभूलपुरा के मलिक के बगीचे की कार्रवाई का हर तरीके से विरोध करने के लिए सैकड़ों युवा, छोटे बच्चे और महिलाएं पहले से ही तैयार थीं।

हर गली में एकत्र भीड़ ने पुलिसकर्मियों पर पथराव किया गया। पुलिस और अफसरों की वापसी का रास्ता रोकने के लिए बाईकों में आग लगाकर रास्ते पर गिरा दी गईं। पुलिस की सिटी पेट्रोल कार और नगर निगम के एक ट्रैक्टर को भी आग के हवाले कर दिया गया। भारी विरोध और उपद्रव झेलने के बाद अतिक्रमण ध्वस्तीकरण की कार्रवाई बीच में रोककर अधिकारी और सभी पुलिसकर्मी वापस लौटने लगे।

लेकिन रास्तेभर में आग लगाकर गिराई गई बाईकों से आगे बढ़ने में काफी दिक्कत हुई। इसका फायदा उठाकर उपद्रवियों ने घरों की छतों से पुलिसकर्मियों पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए। लाइन नंबर एक से 17 तक जिस भी गली से पुलिसकर्मी, मीडियाकर्मी और अन्य लोग जान बचाकर भागे वहीं, उनको छतों से निशाना बनाया गया।

देर रात तक पुलिस और खूफिया सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पत्थरबाजी से पुलिस के दर्जनों अफसरों समेत 200 से अधिक जवान घायल हुए। इसके अलावा एसडीएम हल्द्वानी पारितोष वर्मा, तहसीलदार सचिन कुमार समेत कई अफसरों के भी घायल होने की सूचना है।

हिंसा की आशंका से बसें भी रद
शहर में बवाल बढ़ने के बाद प्रशासन ने सुरक्षा के लिए हल्द्वानी के बस स्टेशन को खाली करवा दिया। गुरुवार रात आठ बजे बाद हल्द्वानी और काठगोदाम डिपो की सभी बसों को निरस्त कर दिया गया। देर रात बाहरी राज्यों से वापसी करने वाली बसों को शहर के बाहर ही ऐहतियात के तौर पर रोका गया। परिवहन निगम के सहायक महाप्रबंधक एसएस बिष्ट ने बताया कि पहाड़ी क्षेत्र से आने वाली बसों को शहर के बाहरी मार्गों से निकाला गया।

क्या है मामला:
वनभूलपुरा के मलिक का बगीचा क्षेत्र की नजूल भूमि पर हुए अतिक्रमण को लेकर पिछले तीनों नगर निगम की टीम ने अभियान शुरू किया था। इस दौरान क्षेत्र में बने भवनों को ध्वस्त किया गया। अतिक्रमण हटाने के दौरान मदरसा और नमाज स्थल के भी नजूल भूमि में होने पर निगम ने दोनों को तोड़ने के लिए कार्यवाही शुरू की थी।

इस दौरान निगम ने लावारिश पशुओं को रखने के लिए अस्थाई गोसाला का निर्माण कर दिया था। मदरसा व नमाज स्थल को अतिक्रमण हटाने के दौरान बड़े विरोध को देखते हुए पिछले दिनों प्रशासन व नगर निगम ने पुराने आदेश का हवाला देते हुए दोनों स्थलों को सील कर दिया था।

गुरुवार को प्रशासन व नगर निगम की टीम भारी पुलिस बल के साथ मौके से अतिक्रमण हटाने पहुंची। इस दौरान क्षेत्र में तनाव फैल गया। आगजनी की घटना में थाने को फूंक दिया गया। एक दर्जन के अधिक वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें