ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडदुल्हन लेने निकले दूल्हे की बारात में पत्थरबाजी के बाद बवाल, बाराती ने ही बारातियों पर दर्ज कराया केस

दुल्हन लेने निकले दूल्हे की बारात में पत्थरबाजी के बाद बवाल, बाराती ने ही बारातियों पर दर्ज कराया केस

बारात वापसी के समय टकुली गांव के पास जेसीबी से काम चल रहा था। जेसीबी ऑपरेटर देवेन्द्र सिंह नेगी ने बारात से पांच मिनट रुकने कहा। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

दुल्हन लेने निकले दूल्हे की बारात में पत्थरबाजी के बाद बवाल, बाराती ने ही बारातियों पर दर्ज कराया केस
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, हिन्दुस्तानWed, 15 May 2024 05:49 PM
ऐप पर पढ़ें

दुल्हन लेने निकलने दूल्हे की बारात में जमकर बवाल हो गया। पत्थरबाजी के बाद केस दर्ज किया गया है। बवाल के बाद बाराती ने ही बारातियों पर केस दर्ज कर दिया है। लमगड़ा में दो पक्षों में हुई मारपीट में मंगलवार को पुलिस ने एक और मुकदमा दर्ज किया है।

अब बारात में ही शामिल एक व्यक्ति ने बारातियों पर बेवजह मारपीट और पथराव करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने एक नामजद सहित आठ-दस अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस के मुताबिक ढौरा लमगड़ा निवासी अर्जुन कुमार ने सोमवार को तहरीर सौंपी है।

कहना है कि सात मई को वह भी बघाड़ गांव में वधू पक्ष की शादी में शामिल हुए थे। जबकि, वर पक्ष के लोग भी उसके परिचित हैं। बारात कसारदेवी से आई थी। बारात वापसी के समय टकुली गांव के पास जेसीबी से काम चल रहा था।

जेसीबी ऑपरेटर देवेन्द्र सिंह नेगी ने बारात से पांच मिनट रुकने कहा। इतने में शराब के नशे में संतोष कुमार, निवासी कसार देवी सहित आठ-दस बारातियों ने मारपीट शुरू कर दी। उन्होंने बीच बचाव किया तो बाराती उन पर ही झपट पड़े और पथराव शुरू कर दिया। बारातियों के हमले में ऑपरेटर और उनको चोट आई, जबकि जेसीबी क्षतिग्रस्त हो गई।

थानाध्यक्ष दिनेश नाथ महंत ने बताया कि तहरीर के आधार पर आरोपियो के खिलाफ धारा 147, 323, 427, 504, 506 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले में एक मुकदमा पहले ही दर्ज हो चुका है।

बारात में मारपीट पर विरोध जताया
अल्मोड़ा। उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी ने लमगड़ा में अनुसूचित जाति के लोगों की बारात को टकोली गांव के मंदिर के पास रोकने का विरोध जताया है। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उपपा केंद्रीय महासचिव नारायण राम ने अनुसूचित जाति के लोगों की बारात को रोकने की निंदा की है। बारातियों के साथ मारपीट व गाली गलौज करने वालों की निष्पक्ष जांच करते हुए कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है।

कहना है कि यह घटना केवल बारातियों के साथ दुर्व्यवहार की नहीं, संपूर्ण शिल्पकार समाज का भी अपमान है। यह घटना आतंक तथा भय का माहौल पैदा करती है। उन्होंने पुलिस से समाज विरोधी तत्वों के साथ सख्ती से निपटने की अपील की है।