DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › ऐसे कैसे उत्तराखंड में हारेगा करोना, घोषणा पत्र भर 13 सौ ग्रामीणों का टीका लगाने से इंकार 
उत्तराखंड

ऐसे कैसे उत्तराखंड में हारेगा करोना, घोषणा पत्र भर 13 सौ ग्रामीणों का टीका लगाने से इंकार 

हिन्दुस्तान टीम, बागेश्वर। देवेंद्र पांडेयPublished By: Himanshu Kumar Lall
Mon, 27 Sep 2021 01:55 PM
ऐसे कैसे उत्तराखंड में हारेगा करोना, घोषणा पत्र भर 13 सौ ग्रामीणों का टीका लगाने से इंकार 

बागेश्वर में शत-प्रतिशत वैक्सीन लगाने के लिए जिला प्रशासन ने बेहतर पहल की है। लक्ष्य से आठ प्रतिशत वैक्सीन लगाकर जिला राज्य में प्रथम स्थान प्राप्त कर चुका है। बावजूद इसके प्रशासन उन लोगों को वैक्सीन लगाने का प्रयास कर रहा है, जिन्होंने किसी कारण से नहीं लगाई है। डीएम ने ऐसे लोगों से ग्राम प्रधान और आशाओं के माध्यम से घोषणा पत्र भरवाया।

जिले में 1306 लोगों ने वैक्सीन नहीं लगाने का घोषणा पत्र भरे हैं। अब प्रशासन ऐसे लोगों की काउंसलिंग कराएगा व वैक्सीन लगाने के लिए जागरूक भी करेगा।बागेश्वर जनपद को कोरोना की पहली डोज लगाने के लिए 01 लाख, 72 हजार के करीब लक्ष्य मिला था। लेकिन जिले ने 01 लाख, 81 हजार, 306 वैक्सीन लगाकार राज्य में पहला स्थान प्राप्त किया।

बावजूद इसके अब तक कुछ लोगों ने वैक्सीन नहीं लगाया है। सही आंकड़े एकत्र करने के लिए डीएम ने ग्राम प्रधान तथा आशाओं के माध्मय से सर्वे कराया और लोगों से घोषणा पत्र भरवाया। इसमें लिखा गया वह अपनी इच्छा से वैक्सीन नहीं लगा रहे हैं। जिले में 1306 लोगों ने वैक्सीन नहीं लगाने का घोषणा पत्र भरा। इसमें कपकोट में सबसे अधिक 737, गरुड़ में 446 और बागेश्वर तहसील में 123 लोग शामिल हैं। 

गर्भवती और मानसिक रोगी अधिक शामिल
बागेश्वर जिले वैक्सीन नहीं लगाने वालों में अधिकतर गर्भवती महिलाएं और मानसिक रोगी हैं। इसके अलावा कई ऐसे लोग हैं, जिन्हें दवाई खाने से एलर्जी हो जाती है। ऐसे लोग वैक्सीन लगाने से डर रहे हैं। कुछ मानसिक रोगी दवा को देखकर ही हिंसक हो जाते हैं। ऐसे लोगों के परिजनों से घोषणा पत्र भरे हैं। इन लोगों को वैक्सीन लगाना भी विभाग के लिए चुनौती है। 

अल्मोड़ा कोरोना मुक्ति से एक कदम दूर  
अल्मोड़ा जिला कोरोना मुक्त होने से एक कदम दूर रह गया है। प्रशासन के आंकड़ों के अनुसार जिले में कोरोना का केवल एक सक्रिय मामला रह गया है। इधर रविवार को भी कोई नया मामला नहीं आया है। पिछले तीन दिन से लगातार नए मामले नहीं आ रहे हैं। कोरोना शुरू होने के बाद  जिले में 11930 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके है। जिसमें से 11776 मरीजों ने कोरोना से जंग जीत ली है।

बागेश्वर में वैक्सीन नहीं लगाने वालों का सही आंकड़ा मिले इसके लिए ग्राम प्रधान के माध्मय से घोषणा पत्र भरवाया गया। अब आंकड़े आ गए हैं। ऐसे लोगों की काउंसलिंग कराई जाएगी और वैक्सीन लगाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। ताकि हर गांव शत प्रतिशत वैक्सीननेशन की श्रेणी में शामिल हो। 
विनीत कुमार, जिलाधिकारी बागेश्वर। 

 

संबंधित खबरें