ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडसरकार ने टनल हादसे को इवेंट बनाया, दोषियों पर जल्द हो कार्रवाई; कांग्रेस की मांग पर बीजेपी ने किया यह अनुरोध

सरकार ने टनल हादसे को इवेंट बनाया, दोषियों पर जल्द हो कार्रवाई; कांग्रेस की मांग पर बीजेपी ने किया यह अनुरोध

कांग्रेस ने सरकार पर सिलक्यारा टनल हादसे को एक इवेंट बनाने का आरोप लगाया है। साथ ही दोषी कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। बीजेपी ने जांच पूरी होने तक कांग्रेस से सब्र रखने का अनुरोध किया।

सरकार ने टनल हादसे को इवेंट बनाया, दोषियों पर जल्द हो कार्रवाई; कांग्रेस की मांग पर बीजेपी ने किया यह अनुरोध
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,देहरादूनFri, 01 Dec 2023 09:55 AM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस ने सिलक्यारा टनल हादसे के लिए दोषी कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। सरकार पर टनल हादसे को इवेंट में बदलने का आरोप लगाया। कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि पार्टी हमेशा जनहित में काम करती है। जबकि भाजपा हर चीज को इवेंट में बदल देती है। माहरा ने कहा कि 17 दिनों बाद टनल से श्रमिकों की सकुशल वापसी साधारण बात नहीं थी। इसके लिए मजदूरों, कर्मचारियों, अधिकारी, एनडीआरफ, पुलिस के जवानों और विशेषज्ञों का बहुत बड़ा योगदान रहा। इसके बाद भी भाजपा ने अपने राजनैतिक हित साधने को पीएम से लेकर सीएम को महिमामंडित किया। जो किसी भी तरह सही नहीं है। भाजपा पर इसे इवेंट बनाने का आरोप लगाया।

हादसे की जांच होने तक सब्र रखे कांग्रेस

भाजपा ने सिलक्यारा टनल हादसे को लेकर कांग्रेस नेताओं की ओर से की जा रही बयानबाजी को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए जांच होने तक सब्र रखने का आग्रह किया। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने गुरुवार को मीडिया को जारी बयान में कहा कि बड़ी विकास परियोजनाओं को लेकर किसी भी निष्कर्ष तक पहुंचने से पहले सभी को उच्च स्तरीय जांच एवं केंद्रीय ऐजेंसियों की रिपोर्ट का इंतजार करना चाहिए। हादसे की जानकारी के बाद प्रदेश सरकार ने इसकी उच्च स्तरीय जांच के निर्देश दे दिए थे। रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद अब जांच की प्रक्रिया आगे बढ़ेगी। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी कह चुके हैं कि पूरी घटना की बारीकी से जांच की जा रही है।

रेस्क्यू ऑपरेशन दुनिया के लिए मिसाल बना

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेनि) ने गुरुवार को एम्स ऋषिकेश पहुंचकर सिलक्यारा सुरंग से रेस्क्यू किए गए श्रमिकों का हाल जाना। राज्यपाल ने प्रत्येक श्रमिक से उनकी कुशलक्षेम पूछी और उनके साहस और हौसले की सराहना की। रेस्क्यू अभियान में शामिल सभी एजेंसियों और कर्मचारियों की अथक मेहनत के बाद यह चुनौतीपूर्ण अभियान सफल हो पाया।

गुरुवार को एम्स में मीडिया से बातचीत करते हुए राज्यपाल ने कहा सभी श्रमिक स्वस्थ हैं। 41 श्रमवीरों ने सीख दी है कि किस तरह से मुश्किल घड़ी में खुद पर नियंत्रण करना और अपने हौसले को बुलंद रखना है। हमें सिखाया कि विपरीत परिस्थितियों में किस तरह से एकजुट रहना है। राज्यपाल बोले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन, निगरानी और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में केंद्र और राज्य की एजेंसियों और अधिकारियों के अथक प्रयास ने सिलक्यारा बचाव अभियान को कामयाब बनाने में जो भूमिका निभाई है, वह दुनिया के लिए एक मिसाल बन गई है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें