ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडUttarakhand:बीमार लोगों के घर दवा पहुंचाएगी सरकार, 12 हजार आशाओं को टेलीमेडिसिन सेवा से जोड़ा जाएगा

Uttarakhand:बीमार लोगों के घर दवा पहुंचाएगी सरकार, 12 हजार आशाओं को टेलीमेडिसिन सेवा से जोड़ा जाएगा

राज्य में 12 हजार आशाएं राज्य में 12 हजार से अधिक आशाएं हैं जो हर गांव और घर से जुड़ी हुई हैं। इसके बाद अब सरकार आशाओं को टेलीमेडिसिन सेवाओं से भी जोड़ रही है। अब आशा पहुंचाएंगी दवाएं।

Uttarakhand:बीमार लोगों के घर दवा पहुंचाएगी सरकार, 12 हजार आशाओं को टेलीमेडिसिन सेवा से जोड़ा जाएगा
Mohammad Azamहिंदुस्तान,हरिद्वारMon, 17 Oct 2022 07:26 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

उत्तराखंड में आशा वर्कर अब बीमार लोगों को उनके घर पर जाकर दवाएं पहुंचाएंगी। आशाओं को टेलीमेडिसिन सेवाओं से जोड़ा जाएगा और इसके लिए उन्हें अलग से इंसेटिव दिया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग की ओर से इस संदर्भ में प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। योजना के अनुसार पहले राज्य में टेलीमेडिसिन सेवाओं को मजबूत किया जाएगा और फिर टेलीमेडिसिन से आशाओं को जोड़ा जाएगा। 

आशाओं का रोल यह होगा कि वह मरीज को डॉक्टर द्वारा दी जाने वाली दवाएं उनके घर तक पहुंचाएंगी। दरअसल टेलीमेडिसिन सेवाओं के तहत अभी मरीजों को डॉक्टर तो ऑन लाइन मिल रहे हैं लेकिन दवाओं के लिए अस्पताल जाना ही पड़ रहा है। इस समस्या को देखते हुए अब आशाओं को भी योजना से जोड़ा जा रहा है ताकि मरीजों को दवा के लिए भी चक्कर न काटने पड़ें।

राज्य में 12 हजार आशाएं

राज्य में 12 हजार से अधिक आशाएं हैं जो हर गांव और घर से जुड़ी हुई हैं। इसके बाद अब सरकार आशाओं को टेलीमेडिसिन सेवाओं से भी जोड़ रही है। आशाओं के पास स्वास्थ्य विभाग के ऐसे अनेक काम हैं जिसके तहत वह घर-घर जाकर मरीजों को सुविधाएं देती हैं। इसलिए मरीजों तक दवा पहुंचाने का काम भी उन्हीं से कराया जा रहा है।

आशाओं को भी मिलेगा इंसेंटिव

स्वास्थ्य सचिव डॉ. आर राजेश कुमार ने कहा कि, राज्य में टेलीमेडिसिन सेवाओं को मजबूत किया जा रहा है। इसके तहत अब मरीजों को घर तक दवा देने की भी योजना है। इसके लिए टेलीमेडिसिन योजना से आशाओं को जोड़ा जाएगा और फिर आशाएं घर जाकर मरीजों को दवाएं देंगी। इसके बदले उन्हें इंसेंटिव भी दिया जाएगा।

लगेंगे 1200 से अधिक मोबाइल टावर

राज्य में सरकार संचार सेवाओं को मजबूत कर रही है। इसके तहत राज्य भर में अगले कुछ सालों में 1200 से अधिक मोबाइल टावर लगने हैं। इससे पहाड़ के अधिकांश गांवों तक मजबूत संचार नेटवर्क होगा और इंटरनेट की स्थिति भी अच्छी होगी। इससे टेलीमेडिसिन सेवाओं को और मजबूती मिलेगी और मरीजों को घर पर ही समुचित इलाज की सुविधा मिलेगी।

epaper