DA Image
25 फरवरी, 2020|5:10|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भर्ती को लेकर शासन और वीसी में टकराव, जानिए क्या है मामला

jobs

कुमाऊं विश्वविद्यालय में शिक्षकों और शिक्षणेत्तर कर्मचारियों की भर्ती प्रक्रिया पर शासन और विश्वविद्यालय के वीसी आमने सामने आ गए हैं।  एक तरफ शासन विवि में भर्ती प्रक्रिया रोकने के लिए पत्र जारी कर चुका है, दूसरी तरफ वीसी ने दो टूक कहा है कि शासन को भर्ती प्रक्रिया पर रोक का अधिकार नहीं है। फिलहाल 16 फरवरी से प्रारंभ होने वाली भर्ती प्रक्रिया तकनीकी कारणों से रोकी गई है। इस पर कार्यपरिषद में अंतिम निर्णय होगा। कुमाऊं विश्वविद्यालय में इस समय स्थायी वीसी नहीं है। बावजूद इसके विश्वविद्यालय के स्तर से असिस्टेंट प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर के साथ ही शिक्षणेत्तर कर्मचारियों के पदों पर भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है।  कुछ पदों के लिए लिए 16 फरवरी से साक्षात्कार प्रस्तावित किए गए हैं। इस बीच शासन ने गत 30 जनवरी को विश्वविद्यालय कुलपति को पत्र भेजकर नियुक्तियों पर रोक लगा दी है। प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा आनंद वर्द्धन का कहना है कि शासन भर्तियों पर रोक के स्पष्ट आदेश जारी कर चुका है। जरूरी होने पर विवि को शासन से पूछना होगा। 

फिलहाल साक्षात्कार स्थगित 
कुमाऊं विश्वविद्यालय के वीसी प्रो. केएस राणा ने दो टूक कहा है कि विश्वविद्यालय स्वायत्त संस्था है, शासन को भर्ती प्रक्रिया पर रोक लगाने का अधिकार नहीं है। प्रो. राणा ने बताया कि उक्त भर्ती का विज्ञापन पुराने रोस्टर के अनुसार जारी हो गया था। इधर, अल्मोड़ा विश्वविद्यालय का भी गठन होना है, जिससे पदों की संख्या में बदलाव आ सकता है। इन तकनीकी पक्षों को देखते हुए फिलहाल भर्ती स्थगित की जा रही है। इस महीने के अंत में कार्य परिषद में जल्द नहीं प्रक्रिया पर निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि नए रोस्टर के अनुसार नए सिरे से ऑनलाइन आवेदन मांगे जाएंगे। इसक बाद पहले आवेदन करने वालों को जोड़कर परीक्षा कराई जाएगी। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:government and kumaon university folds sleeves over appointment in kumaon university in uttarakhand