ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडछात्राएं अचानक चीखने-चिल्लाने के बाद हो रहीं बेहोश, स्कूल में दहशत की क्या वजह

छात्राएं अचानक चीखने-चिल्लाने के बाद हो रहीं बेहोश, स्कूल में दहशत की क्या वजह

छात्राएं अचानक चीखने, चिल्लाने लगते हैं और कई बार बेहोश तक हो जाते हैं। मंगलवार सुबह भी इसी तरह की घटना सामने आई। मंगलवार सुबह विद्यालय में अध्ययनरत चार से पांच छात्राएं अचानक चिल्लाने लगीं थीं।

छात्राएं अचानक चीखने-चिल्लाने के बाद हो रहीं बेहोश, स्कूल में दहशत की क्या वजह
Himanshu Kumar Lallचकराता, हिन्दुस्तानWed, 01 Nov 2023 02:42 PM
ऐप पर पढ़ें

उत्तराखंड में स्कूली छात्राओं से जुड़ा एक हैरान करने वालाा मामला सामने आया है। छात्राओं की हरकतों के बाद शिक्षा विभाग और स्कूल प्रशासन भी अलर्ट मोड पर आ गया है। स्वास्थ्य विभाग को भी अपडेट किया गया है। देहरादून जिले के विकासनगर ब्लॉक क्षेत्र में यह मामला सामने आया है। 

राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जाड़ी में अभिभावक व शिक्षक परेशान हैं। छात्राएं अचानक चीखने, चिल्लाने लगते हैं और कई बार बेहोश तक हो जाते हैं। मंगलवार सुबह भी इसी तरह की घटना सामने आई। मंगलवार सुबह विद्यालय में अध्ययनरत चार से पांच छात्राएं अचानक चिल्लाने लगीं और एकाएक बेहोश हो गईं।

इस प्रकार की घटना से अभिभावकों में दहशत का माहौल बना हुआ है। कई ग्रामीण इस घटना को अंध विश्वास से जोड़ कर भी देख रहे हैं। बीते लंबे समय से इस तरीके की घटनाएं सामने आ रही हैं। मंगलवार सुबह भी रोज की भांति चार-पांच छात्राएं स्कूल पहुंचते ही अचानक चीखने लगी और बेहोश होकर जमीन पर गिर गईं।

छात्राओं को चिल्लाते देख शिक्षकों और छात्रों में हड़कंप मच गया, जिससे विद्यालय में अफरा तफरी का माहौल बन गया। शिक्षकों द्वारा अभिभावकों को इस बारे में सूचित किया गया, जिसके बाद अभिभावक अपने बच्चों को अपने घर ले गए। अभिभावक नरेंद्र चौहान, चंदन सिंह, अरुण धींगा, कशालु ने बताया कि पिछले तीन-चार माह से हमारे बच्चों को विद्यालय में चक्कर आ रहे हैं।

विद्यालय के शिक्षक सुमित्रा शर्मा, अनिल जोशी, कविता, शिवकुमार मिश्र ने बताया कि बार बार इस प्रकार की घटना होने से शिक्षण कार्य प्रभावित हो रहा है। इसके साथ ही किसी अनहोनी को लेकर भी भय बना हुआ है। उधर खंड शिक्षा अधिकारी पूजा नेगी दानू का कहना है कि यह बच्चों का मामला है जो गंभीर विषय है। संबंध में जल्द ही ग्रामीणों और विद्यालय प्रबंधन से वार्ता की जाएगी।