class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तराखण्ड के इस शहर में 15 हजार लेकर दलाल करा रहे लिंग परीक्षण!

उत्तराखण्ड में घटते लिंगानुपात के लिए अल्ट्रासाउंड मशीनें जिम्मेदार हैं। प्रदेश के कई शहरों में बड़े स्तर पर भ्रूण का लिंग परीक्षण कराया जा रहा है। खुद स्वास्थ्य विभाग के छापों में इसका खुलासा हुआ है। 

खासकर लिंग परीक्षण कराने वाली कई महिला दलाल हरिद्वार में सक्रिय हैं। ये 15 से 20 हजार रुपये लेकर लिंग परीक्षण करा रही हैं। इसका खुलासा शामली उत्तर प्रदेश में गिरफ्तार हुई बिजनौर निवासी दलाल कविता से पूछताछ के दौरान हुआ है। कविता ने बताया कि हरिद्वार में करीब 50 गभर्वती महिलाओं के गर्भ का लिंग परीक्षण कराया जा चुका है।

बीते रविवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उत्तर प्रदेश के शामली में छापेमारी कर लिंग परीक्षण कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया था। गिरोह में दलाल कविता और शामली के दो डॉक्टरों रूपेश और शराबा का नाम सामने आया था। स्वास्थ्य विभाग ने कविता को पकड़कर शामली पुलिस के हवाले कर दिया था। शामली पुलिस ने महिला से पूछताछ की है। 

साथ ही फरार डॉक्टर रूपेश और शराबा की तलाश में पुलिस जुटी हुई है। महिला दलाल से हुई पूछताछ में कुछ चौंकाने वाली बातें सामने आई हैं। स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के हरिद्वार में कई महिला दलाल सक्रिय हैं, जो बिजनौर निवासी कविता के संपर्क में थीं। अब हरिद्वार स्वास्थ्य विभाग इन महिलाओं की तलाश में जुट गया है। एसीएमओ डॉ. एचडी शाक्य ने बताया कि पकड़ी गई दलाल से हुई पूछताछ में उसका हरिद्वार में कुछ महिलाओं से सीधा संपर्क होने की बात सामने आई है।

15 हजार में किया गया था सौदा

गर्भ में लड़का है या लड़की इसका पता लगाने के लिए 15 हजार रुपये सबसे कम कीमत थी। महिला को देखकर ही तय किया जाता था कि कितने रुपये में लिंग परीक्षण कराया जाएगा। शिवालिक नगर निवासी महिला से 15 हजार रुपये में सौदा तय हुआ था। जबकि इससे भी अधिक रुपये कई लोगों से लिए जा चुके हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Gender test is being brokerage of 15 thousand in Haridwar city of Uttarakhand
बद्रीनाथ मंदिर के कपाट बंद करने की प्रक्रिया शुरू, 17 साल बाद दुर्लभ संयोगखुशखबरी : उत्तराखण्ड में सेना भर्ती के लिए दो ट्रेनिंग सेंटर खुलेंगे