ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडपूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक के करीबियों ने लोकसभा चुनाव 2024 में ठोकी ताल टिकट पेश की दावेदारी, बीजेपी में हलचल

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक के करीबियों ने लोकसभा चुनाव 2024 में ठोकी ताल टिकट पेश की दावेदारी, बीजेपी में हलचल

आगामी लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारियों में जुटे पूर्व मुख्यमंत्री एवं हरिद्वार सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक को अपने ही खेमे के नेताओं से इस बार चुनौती मिल रही है। बीजेपी में भी हलचल बढ़ गई है।

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक के करीबियों ने लोकसभा चुनाव 2024 में ठोकी ताल टिकट पेश की दावेदारी, बीजेपी में हलचल
Himanshu Kumar Lallहरिद्वार, सागर जोशी  Tue, 21 Nov 2023 04:44 PM
ऐप पर पढ़ें

आगामी लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारियों में जुटे पूर्व मुख्यमंत्री एवं हरिद्वार सांसद डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक को अपने ही खेमे के नेताओं से इस बार चुनौती मिल रही है। निशंक खेमे के रूप में राजनीति में पहचान रखने वाले पूर्व मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद और पूर्व विधायक संजय गुप्ता भी टिकट के लिए दावेदारी जता रहे हैं।

भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं हरिद्वार विधायक मदन कौशिक का नाम भी चर्चा में है। इससे पहले कौशिक का दो बार टिकट से चूक चुके हैं। हरिद्वार लोकसभा क्षेत्र से भाजपा का 10 साल का सूखा खत्म कर 2014 में सांसद बने डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक इस बार भी टिकट के सबसे बड़े दावेदार हैं, क्योंकि सिटिंग सांसद के साथ वह केंद्रीय शिक्षा मंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं।

दो बार से लगातार सांसद निशंक के सामने 2019 में टिकट के दावेदार न के बराबर थे, लेकिन 2024 आते-आते कई भाजपा नेताओं के नाम सामने आने लगे हैं। हैरानी की बात यह है कि दो दावेदार ऐसे हैं, जो स्वयं निशंक के खेमे में पहचान रखते थे।

टिकट के लिए पूर्व मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद और पूर्व विधायक संजय गुप्ता का नाम भी चर्चा में चल रहा है। मदन कौशिक भी टिकट की लाइन में खड़े हैं, क्योंकि 2009 और 2014 में अचानक मदन कौशिक का टिकट कट गया था। 

प्रत्याशी बनाने को लेकर नारेबाजी पर नोटिस 
बीते दिनों एक कार्यक्रम में पूर्व विधायक संजय गुप्ता के पक्ष में लोकसभा चुनाव को लेकर नारेबाजी हुई। पार्टी संगठन के नेता इससे नाराज भी हुए, एक नेता को बकायदा नोटिस भी जारी किया गया था। इस कार्यक्रम में संजय गुप्ता को लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाने को लेकर नारेबाजी की गई थी। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें