ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडकिसान आंदोलन से ट्रेनों में सफर करने वालों को टेंशन, UP-बिहार, राजस्थान की ट्रेनें कैंसिल-डायवर्ट 

किसान आंदोलन से ट्रेनों में सफर करने वालों को टेंशन, UP-बिहार, राजस्थान की ट्रेनें कैंसिल-डायवर्ट 

लक्सर, रुड़की की 5 ट्रेनें, बाड़मेर से हरिद्वार, हरिद्वार एक्सप्रेस, हरिद्वार से श्री गंगानगर व श्रीगंगानगर से हरिद्वार, इंटरसिटी एक्सप्रेस और हरिद्वार से अमृतसर आदि ट्रेनें कैंसिल रहीं।

किसान आंदोलन से ट्रेनों में सफर करने वालों को टेंशन, UP-बिहार, राजस्थान की ट्रेनें कैंसिल-डायवर्ट 
farmers protest causes tension for train travellers up bihar rajasthan trains cancelled diverted
Himanshu Kumar Lallलक्सर, हिन्दुस्तानTue, 30 Apr 2024 12:48 PM
ऐप पर पढ़ें

किसान आंदोलन का असर ट्रेनों के संचालन पर पड़ रहा है। किसान आंदोलन की वजह से यूपी, बिहार, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, राजस्थान आदि लंबी दूरी की ट्रेनों में सफर करने वाले रेल यात्रियों की मुश्किलें भी बढ़ गईं हैं।

लक्सर, रुड़की की 5 ट्रेनें, बाड़मेर से हरिद्वार, हरिद्वार एक्सप्रेस, हरिद्वार से श्री गंगानगर व श्रीगंगानगर से हरिद्वार, इंटरसिटी एक्सप्रेस और हरिद्वार से अमृतसर व अमृतसर से हरिद्वार जन शताब्दी एक्सप्रेस निरस्त रही। आंदोलन के चलते कई गाड़ियां लेट भी हुई।

फिरोजपुर कैंट से धनबाद, गंगा सतलुज एक्सप्रेस सबसे ज्यादा 13 घंटे और वापसी में धनबाद से फिरोजपुर कैंट की यही ट्रेन करीब 9 घंटे लेट रही। जम्मूतवी से हावड़ा, हिमगिरी एक्सप्रेस 5 घंटे, अमृतसर से देहरादून, देहरादून एक्सप्रेस 4 घंटे, योगनगरी ऋषिकेश से पुरी, कलिंग उत्कल एक्सप्रेस व जयनगर से अमृतसर, शहीद एक्सप्रेस, दोनों ट्रेनें 3-3 घंटे और श्रीमाता वैष्णोदेवी कटरा से योगनगरी ऋषिकेश व जम्मूतवी से कोलकाता, कोलकाता एक्सप्रेस ट्रेन 2-2 घंटे की देरी से चली।

श्रीमाता वैष्णोदेवी कटरा से वाराणसी, वाराणसी एक्सप्रेस व पुरैना कोर्ट से अमृतसर जनसेवा एक्सप्रेस ट्रेन भी लगभग 1-1 घंटे की देरी से स्टेशन पर आई। इनके अलावा जयनगर से अमृतसर, क्लोन स्पेशल ट्रेन का रूट पुरानी दिल्ली से लुधियाना और अमृतसर से कटिहार, आम्रपाली एक्सप्रेस का लुधियाना से नई दिल्ली डायवर्ट करके चलाया गया।    

अंबाला तक ही जाएगी हरिद्वार से ऊना एक्सप्रेस
किसान आंदोलन खत्म होने तक हरिद्वार से ऊना तक चलने वाली ऊना हिमाचल एक्सप्रेस और दरभंगा से अमृतसर तक जाने वाली जननायक एक्सप्रेस ट्रेन अंबाला में ही रुकेंगी। उधर से दोनों ट्रेन पूर्व निर्धारित टाइम पर अंबाला से ही वापस रवाना होंगी।

पटियाला (पंजाब) में शंभु बॉर्डर पर किसानो ने 17 अप्रैल से रेलवे ट्रैक जाम कर रखा है। इससे ट्रेनों का संचालन बुरी तरह बिगड़ा हुआ है। रोजाना 30 से 40 से गाड़ियां निरस्त, लेट या डायवर्ट हो रही हैं। हरिद्वार से ऊना जाने वाली ऊना हिमाचल एक्सप्रेस तब से अंबाला कैंट में ही रोकनी पड़ रही है।

इसे देखते हुए रेल मुख्यालय ने किसान आंदोलन समाप्त होने तक इस ट्रेन को ऊना के बजाय अंबाला कैंट स्टेशन तक ही चलाने का निर्णय लिया है। यह ट्रेन हरिद्वार से तड़के 4.30 बजे चलेगी, और सुबह 8.56 बजे अंबाला कैंट पहुंचकर वहीं रुक जाएगी।

वापसी में यह शाम 5.40 बजे के तय समय पर अंबाला से चलकर रात 9 बजे हरिद्वार लौट आएगी। इसके अलावा दरभंगा से अमृतसर, जन नायक एक्सप्रेस सुबह 5.20 बजे दरभंगा से चलती है, अगले दिन की शाम 6 बजे लक्सर में आती है। यहां से सहारनपुर और यमुनानगर स्टेशन पर रुकते हुए यह ट्रेन रात 9 बजे अंबाला कैंट पहुंचती है।

पिछले कई दिन से ट्रेनों का संचालन बाधित हो रहा है। हरिद्वार, ऊना हरिद्वार एक्सप्रेस व दरभंगा, अमृतसर, दरभंगा एक्सप्रेस ट्रेन को मजबूरी में अंबाला कैंट स्टेशन पर शॉर्ट टर्मिनेट किया जा रहा था। अब रेल मुख्यालय ने फिलहाल इन दोनो गाड़ियों को अंबाला कैंट तक ही संचालित करने के आदेश जारी किए हैं।
आदित्य गुप्ता, सीनियर डीसीएम, रेल मंडल, मुरादाबाद