DA Image
20 अक्तूबर, 2020|9:19|IST

अगली स्टोरी

पहल: गांधी शताब्दी अस्पताल में बनेगा आई बैंक

उत्तराखंड में नेत्रहीन अब अपनी आंखों से इस खूबसूरत दुनिया को देख सकेंगे। राजधानी के गांधी शताब्दी नेत्र चिकित्सालय में जल्द ही आई बैंक खुलेगा। यहां आई ट्रांसप्लांट की व्यवस्था की जाएगी। अस्पताल के सीएमएस डा. बीसी रमोला ने बताया कि यहां आई बैंक के लिए हंस फाउंडेशन के संस्थापक भोले महाराज एवं माता मंगला ने सहमति जताई है। आई बैंक के लिए एलवी प्रसाद आई इंस्टीट्यूट की टीम ने शुक्रवार को डा. प्रशांत गर्ग की अगुवाई में अस्पताल का दौरा किया। यहां आई बैंक की संभावनाओं की तलाश की और ट्रांसप्लांट की व्यवस्था के संबंध में जानकारी ली। 


हंस फाउंडेशन के सीईओ ने किया निरीक्षण 
हंस फाउंडेशन के सीईओ एसएम मेहता ने शुक्रवार को गांधी अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां फाउंडेशन द्वारा दान की गई करीब दो करोड़ की मशीनों के प्रयोग की जानकारी ली। इस दौरान सीएमएस डा.बीसी रमोला ने यहां 12 बेड का आईसीयू बनाए जाने का प्रस्ताव भी उनके सामने रखा। 

 

प्रदेश का पहला सरकारी आई बैंक होगा 
प्रदेश में गांधी अस्पताल में बनने वाला आई बैंक उत्तराखंड का पहला सरकारी आई बैंक होगा। यहां केवल जौलीग्रांट एवं निर्मल आई इंस्टीट्यूट ऋषिकेश में बैंक है।  

दून महिला अस्पताल में सुधरेगी व्यवस्थाएं 
देहरादून। प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना एवं एमएस डा.केके टम्टा ने शुक्रवार शाम को दून महिला अस्पताल में डाक्टरों के साथ सुधार के लिए मंथन किया। प्राचार्य ने निक्कु वार्ड, एनआईसीयू में व्यवस्थाओं में सुधार के निर्देश दिए। उन्होंने निक्कु वार्ड में 20 वार्मर में से खराब 4 वार्मरों, वेंटीलेटर को ठीक कराने के निर्देश दिए। डाक्टर रूम को व्यवस्थित करने के लिए भी कहा। वहीं, डाक्टर एवं स्टॉफ की कमी दूर करने के लिए प्रयास करने की बात कही।  

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:eye bank to open up in gandhi shatabdi eye hospital in dehradun