ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडकुरान के अपमान का दावा, 'एक्स मुस्लिम समीर' पर मचा हंगामा; पुलिस ने बताया सच

कुरान के अपमान का दावा, 'एक्स मुस्लिम समीर' पर मचा हंगामा; पुलिस ने बताया सच

सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म एक्स पर सोमवार से ही 'एक्स मुस्लिम समीर' ट्रेंड कर रहा है। कुछ वीडियो क्लिप के साथ दावा किया जा रहा है कि सिद्धार्थ चतुर्वेदी उर्फ एक्स मुस्लिम समीर ने कुरान का अपमान किया।

कुरान के अपमान का दावा, 'एक्स मुस्लिम समीर' पर मचा हंगामा; पुलिस ने बताया सच
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,हरिद्वारTue, 28 May 2024 01:59 PM
ऐप पर पढ़ें

सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म एक्स पर सोमवार से ही 'एक्स मुस्लिम समीर' ट्रेंड कर रहा है। कुछ वीडियो क्लिप के साथ दावा किया जा रहा है कि सिद्धार्थ चतुर्वेदी उर्फ एक्स मुस्लिम समीर नाम के युवक ने कुरान का अपमान किया। लोग आरोपी की गिरफ्तारी का दावा कर रहे हैं। एक्स पर कई यूजर्स ने दावा किया है कि वह उत्तराखंड के हरिद्वार जिले का निवासी है और वहीं उसने घटना को अंजाम दिया है। हालांकि, हरिद्वार पुलिस ने ऐसी किसी घटना से इनकार किया है।

डॉक्टर फजिला नाम के एक्स यूजर ने लिखा, 'सभी मुसलमानों से अपील है आप लोग जहां भी हैं वहां से हर एक थाने में इसके खिलाफ FIR दर्ज करवाएं। सिद्धार्थ चतुर्वेदी (एक्स मुस्लिम समीर) ने पवित्र धार्मिक कुरान को जलाया और कुरआन की बेहुरमती की है।' इसमें उत्तराखंड पुलिस को टैग करके सख्त कार्रवाई की मांग की गई। सोशल मीडिया पर इस तरह के पोस्ट की भरमार है। लोग वीडियो क्लिप को शेयर करते हुए तुरंत गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। लाइव हिन्दुस्तान इस वायरल वीडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है।

एक्स पर किए जा रहे दावों का हरिद्वार पुलिस ने भी संज्ञान लिया और सोमवार रात साफ किया कि इस तरह की कोई घटना नहीं हुई और अफवाह फैलाने वालों पर ऐक्शन लिया जाएगा। हरिद्वार पुलिस ने बयान जारी कर कहा, 'संदर्भित प्रकरण में Ex-मुस्लिम समीर पिछले लगभग 03 साल से 'पाडली गुर्जर' नामक स्थान में नहीं रह रहा है और न ही जनपद हरिद्वार में कहीं भी पवित्र कुरान की बेअदबी का कोई प्रकरण हुआ है। अतः बिना जानकारी के प्रकरण को शेयर न करें अन्यथा आपके विरुद्ध वैधानिक कार्यवाही की जा सकती है।'

उत्तराखंड पुलिस ने भी सोशल मीडिया पर किए जा रहे दावों को फेक न्यूज करार दिया और कहा कि वीडियो शेयर करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी। उत्तराखंड पुलिस ने कहा, 'हरिद्वार में कहीं भी पवित्र कुरान की बेअदबी की कोई घटना नहीं हुई है और न ही Ex-मुस्लिम समीर 'पाडली गुर्जर' नामक स्थान में रह रहा है। मामले की जांच की जा रही है। इस प्रकार के वीडियो पोस्ट करने वालों के विरुद्ध सख्त वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।'