ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडईवीएम का आंकड़ा 56 फीसदी पर अटका, उत्तराखंड लोकसभा चुनाव 2024 में इस संसदीय सीट में सबसे कम-ज्यादा मतदान

ईवीएम का आंकड़ा 56 फीसदी पर अटका, उत्तराखंड लोकसभा चुनाव 2024 में इस संसदीय सीट में सबसे कम-ज्यादा मतदान

इस तरह अंतिम मतदान आंकड़ा मतगणना के दिन ही तैयार हो पाएगा।  इस बार कर्मचारियों को 27139, घर पर मतदान करने वालों को 12670 और सर्विस वोटर को 93187 पोस्टल बैलेट जारी किए गए हैं।

ईवीएम का आंकड़ा  56 फीसदी पर अटका, उत्तराखंड लोकसभा चुनाव 2024 में इस संसदीय सीट में सबसे कम-ज्यादा मतदान
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, हिन्दुस्तानSun, 21 Apr 2024 10:01 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तराखंड में इस बार ईवीएम के जरिए हुए मतदान का अंतिम आंकड़ा 55.89 प्रतिशत पर ही अटक गया है। यह पिछली बार पोस्टल बैलेट जोड़ने के बाद बने अंतिम आंकड़े से 5.99 प्रतिशत कम है। अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी विजय जोगदंडे ने शनिवार को प्रेस ब्रीफिंग में बताया कि इस बार ईवीएम के जरिए कुल 55.89 प्रतिशत का मतदान दर्ज हुआ है।

हालांकि शनिवार देर शाम तक भी पहाड़ के दो बूथों का अंतिम आंकड़ा इसमें शामिल नहीं हो पाया था। इस कारण अंतिम आंकड़े में मामूली बदलाव आ सकता है। जोगदंडे ने बताया कि ईवीएम के मत प्रतिशत में पोस्टल बैलेट के मत प्रतिशत को जोड़कर अंतिम मतदान प्रतिशत तैयार होता है।

इस तरह अंतिम मतदान आंकड़ा मतगणना के दिन ही तैयार हो पाएगा।  इस बार कर्मचारियों को 27139, घर पर मतदान करने वालों को 12670 और सर्विस वोटर को 93187 पोस्टल बैलेट जारी किए गए हैं। पोस्टल बैलेट मतगणना की सुबह आठ बजे तक प्राप्त किए जा सकते हैं।

इसे जोड़ने के बाद अंतिम मत प्रतिशत में डेढ़ से दो प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हो सकती है। लोकसभा चुनाव में कम मतदान को लेकर विशेषज्ञों की भी राय है।

बड़ी गिरावट चिंताजनक 
एसडीसी फाउंडेशन के अनूप नौटियाल के मुताबिक पिछली बार के अंतिम मत प्रतिशत 61.88 प्रतिशत में से इस बार के अब तक मत प्रतिशत 55.89 को घटाने पर कुल अंतर 5.99 का ही आ रहा है। लेकिन यदि दोनों बार की तुलना प्रतिशत में करें तो कुल अंतर 9.68 प्रतिशत का आ रहा है, इस तरह यह बड़ा अंतर आ रहा है। हालांकि, पोस्टल बैलेट दर्ज होने के बाद इसमें डेढ़ से दो प्रतिशत की कमी आ सकती है।

मतदान प्रतिशत
अल्मोड़ा 46.94
गढ़वाल 50.84
हरिद्वार 63.50
नैनीताल 61.35
टिहरी 52.57
कुल 55.89

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें