ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडबदरीनाथ-मंगलौर उपचुनाव में बदले समीकरण, BJP-कांग्रेस को फायदा या होगा नुकसान?

बदरीनाथ-मंगलौर उपचुनाव में बदले समीकरण, BJP-कांग्रेस को फायदा या होगा नुकसान?

इसके साथ ही दोनों दलों के नेताओं की सरगर्मियां भी बढ़ जाएंगी। 10 जुलाई को उप चुनाव के लिए मतदान है। पिछले विधानसभा चुनाव की तुलना में इस उप चुनाव में बदरीनाथ सीट पर कई तस्वीरें बदल गई हैं।

बदरीनाथ-मंगलौर उपचुनाव में बदले समीकरण, BJP-कांग्रेस को फायदा या होगा नुकसान?
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, हिन्दुस्तानFri, 21 Jun 2024 10:43 AM
ऐप पर पढ़ें

उत्तराखंड की दो विधानसभा सीटों पर होने जा रहे उप चुनाव के लिए भाजपा और कांग्रेस ने कमर कस ली है। बंदीनाथ और मंगलौर विधानसभ सीटों के लिए दोनों ही पार्टियों ने जीत के लिए कारगर रणनीति भी बनाई है। 21 जून को नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि है।

जबकि 26 जून को नाम वापसी के बाद तस्वीर पूरी तरह से साफ हो जाएगी। इसके साथ ही दोनों दलों के नेताओं की सरगर्मियां भी बढ़ जाएंगी। 10 जुलाई को उप चुनाव के लिए मतदान है। पिछले विधानसभा चुनाव की तुलना में इस उप चुनाव में बदरीनाथ सीट पर कई तस्वीरें बदल गई हैं।

कांग्रेस प्रत्याशी रहे अब भाजपा से देंगे परीक्षा
2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के राजेंद्र भंडारी और भाजपा के महेंद्र भट्ट के बीच मुकाबला था। लेकिन इस बार स्थितियां बदल गई हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान भंडारी ने विधायकी से इस्तीफा देकर पाला बदल लिया और भाजपा में शामिल हो गए। उप चुनाव में भाजपा ने भंडारी को टिकट दिया है। लगभग सवा दो साल के भीतर भंडारी की यह दूसरी परीक्षा होने जा रही है।

इस बार एक जाति के हैं प्रमुख विरोधी
उप चुनाव में भाजपा व कांग्रेस दोनों ने एक ही जाति के प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है। भाजपा से राजेंद्र भंडारी तो कांग्रेस से लखपत सिंह बुटोला हैं। पिछले चुनाव में भाजपा ने महेंद्र भट्ट के रूप में ब्राह्मण तो कांग्रेस ने राजेंद्र भंडारी के रूप में ठाकुर चेहरे को मैदान में उतारा था। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते भट्ट इस बार भंडारी के सारथी की भूमिका में हैं।

डीएम ने किया स्ट्रांग रूम का निरीक्षण
जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने मंगलौर विधानसभा के उप चुनाव के लिए जिला कार्यालय में बनाए जा रहे स्ट्रांग रूम तथा मतगणना सेंटर का निरीक्षण किया। उन्होंने स्ट्रांग रूप की सुरक्षा व्यवस्था को चाक-चौबंद करने और स्ट्रांग रूम निर्वाचन आयोग की गाइडलाइन के अनुरूप बनाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।

जिलाधिकारी ने स्ट्रांग रूम की खिड़कियों को स्थायी रूप से बंद करने, निर्वाचन आयोग द्वारा जारी मानकों के अनुरूप सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम करने, विभिन्न स्थानों पर दीवार निर्माण करने, सीएपीएफ के रुकने की व्यवस्था करने, पुलिस बल की तैनाती, बेरिकेडिंग सहित विभिन्न बिंदुओं पर विस्तार से दिशा-निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। निरीक्षण के दौरान एसएसपी प्रमेंद्र डोबाल, एसडीएम मनीष सिंह, लक्ष्मीराज चौहान, लोनिवि के ईई सुनील तोमर आदि समेत कई अधिकारी मौजूद रहे।

कांग्रेस ने वाररूम प्रभारी किए तैनात
बदरीनाथ और मंगलौर विधानसभा उपचुनाव को लेकर कांग्रेस सोशल मीडिया विभाग ने वाररूम प्रभारी और सहप्रभारियों की नियुक्ति की है। गुरुवार को सोशल मीडिया विभाग के कार्यकारी अध्यक्ष विशाल मौर्य ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष करन माहरा की संस्तुति पर ये तैनाती की गई है। बताया कि उपचुनाव को वार रूम कमेटियों का गठन किया गया है।

आशीष नौटियाल, अनुराग मित्तल को प्रदेश स्तरीय वार रूम का प्रभारी बनाया गया। पुनीत चौधरी, जफर अब्बास को सहप्रभारी बनाया गया। सतीश चन्द्र डिमरी को बदरीनाथ विस का वार रूम प्रभारी और अंकित फर्स्वाण को सह प्रभारी बनाया गया।

मंगलौर विस क्षेत्र के लिए शारिक सुल्तान को वार रूम प्रभारी और नवाज काजी को सहप्रभारी बनाया गया। प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि सभी प्रभारी, सहप्रभारी अपने दायित्वों का निष्ठापूर्वक निर्वहन करेंगे।