e rickshawa operators unhappy over denying permit in main routes in capital city dehradun - ई-रिक्शा पर प्रतिबंध लगाने से चालकों में आक्रोश, देखें VIDEO DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ई-रिक्शा पर प्रतिबंध लगाने से चालकों में आक्रोश, देखें VIDEO

परिवहन और पुलिस विभाग की ओर से ई-रिक्शा संचालकों के लिए मुख्य मार्गों में वाहन चलाने में प्रतिबंध लगाने के फरमान से ई-रिक्शा चालकों में खासा आक्रोश पैदा हो गया है।  ई-रिक्शा संचालकों ने बुधवार को एमडीडीए कालोनी चंदर रोड सामुदायिक भवन में बैठक की।   इस बैठक में कांग्रेस से जुड़े लोगों ने अगुवाई की।   बैठक में आंदोलन की रणनीति पर चर्चा हुई।  तय हुआ कि ई-रिक्शा संचालकों की मांगों को प्रशासन, पुलिस प्रशासन से लेकर परिवहन विभाग के समक्ष जोरशोर से उठाया जाएगा।  सरकार के फैसले के तहत ई-रिक्शा चालकों के लिए मुख्य मार्गों में वाहन चलाने में प्रतिबंध लगा दिया है।   इस आदेश के बाद से ई-रिक्शा के संचालकों में काफी नाराजगी है।   इसका नजारा बुधवार सुबह एमडीडीए कालोनी चंदर रोड सामुदायिक भवन में देखने को मिला। शहर भर के ई-रिक्शा संचालक सामुदायिक भवन में जुटे।  देवभूमि ई-रिक्शा आउनर एंड ड्राइवर वेलफेयर सोसायटी के बैनर तले इस बैठक में आक्रोशित ई रिक्शा संचालकों ने अपनी समस्या पुरजोर तरीके से रखी। सोसायटी के संरक्षक व पूर्व पार्षद आनन्द त्यागी ने कहा कि ई-रिक्शा चालक गरीब तबके हैं।  बड़ी मुश्किल से इन्होंने ई रिक्शा खरीदकर अपनी रोजी रोटी का इंतजाम किया है।  ऐसे समय में भाजपा सरकार इनकी रोजी रोटी छीनना चाहती है।  प्रदेश सरकार गरीबों की अनदेखी  कर रही है।  लेकिन संगठन चूप नहीं बैठेगा।  वह अपनी बात को प्रशासन से  लेकर परिवहन विभाग के समक्ष पुरजोर तरीक से रखेगा।

पूर्व विधायक राजकुमार ने कहा कि सरकार का यह फैसला जायज नहीं है।  इससे सीधे दौर पर ई-रिक्शे के चालकों का काफी नुकसान होगा।  सोसायटी के जिलाध्यक्ष मारूफ राव ने सरकार का फरमान ई-रिक्शा संचालकों के खिलाफ है।  उन्होंने कहा कि कई लोगों ने बैंक से लोन लेकर ई-रिक्शा खरीदा है।  गलियों में ही संचालन करने से ई-रिक्शा संचालकों में आर्थिक संकट आ जाएगा । उन्होंने कहा कि अगर पुलिस या परिवहन विभाग की ओर से ई-रिक्शा संचालकों का उत्पीड़न किया जाता है तो उस स्थिति में धरना प्रदर्शन करना पड़ेगा।  इसके बाद एक प्रतिनिधिमंडल ने आरटीओ में जाकर अधिकारियों से मुलाकात कर ज्ञापन दिया और कहा कि इस समस्या का समाधान किया जाए।  इस दौरान रविंद्र त्यागी, रोबिन त्यागी, परवीन त्यागी, टीनू शर्मा, रिजवान, सुरेश शर्मा, छत्रपाल सिंह राजा, वसीम, साहिल गैर, सुनील आदि मौजू्द रहे। 


 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:e rickshawa operators unhappy over denying permit in main routes in capital city dehradun