DA Image
12 फरवरी, 2021|4:05|IST

अगली स्टोरी

उत्तराखंड में पहाड़ तक फैला ड्रग्स का नेटवर्क, छोटे शहरों व कस्बों में हो रही सप्लाई

उत्तराखंड में ड्रग्स तस्करों का जाल अब प्रदेश के बड़े शहरों के साथ ही, छोटे पहाड़ी कस्बों तक भी फैल रहा है। बीते दो दिनों में पुलिस ने उत्तरकाशी और चमोली के दूर-दराज इलाकों में लाखों रुपये की स्मैक बरामद की है। पूरे राज्य में पिछले एक साल में करीब 13 करोड़ रुपये की ड्रग्स बरामद की गई। जबकि बीते साल कोरोना-लॉकडाउन के कारण सामान्य आवाजाही काफी प्रभावित रही थी। पुलिस मुख्यालय के अनुसार, वर्ष 2020 में उत्तराखंड में ड्रग्स तस्करी के 1262 मुकदमे दर्ज किए गए और एक हजार 490 अभियुक्तों को पकड़ा गया।

चरस, अफीम, स्मैक, डोडा और गांजे की बजाय तस्कर अब नशीले इंजेक्शन का ज्यादा कारोबार कर रहे हैं। यह गुप्त नेटवर्क के जरिये एक से दूसरी जगह पहुंचाएं जा रहे हैं। यही कारण रहा कि बीते एक साल में राज्य में 8408 नशीले इंजेक्शन और 5 लाख नशीली गोलियां बरामद हुईं। राज्य पुलिस ने बीते साल 12.93 करोड़ के अनुमानित मूल्य की ड्रग्स बरामद की है।

केस-1: उत्तरकाशी की पुलिस ने शुक्रवार को सीमांत क्षेत्र मोरी में हिमाचल के दो लोगों को स्मैक के साथ गिरफ्तार किया था। बरामद स्मैक की कीमत करीब डेढ़ लाख रुपये आंकी गई है। पुलिस ने दोनों के ड्रग्स नेटवर्क में शामिल होने की आशंका जताई है।

केस-2: चमोली पुलिस ने शनिवार को गोपेश्वर में देहरादून के रहने वाले आरोपी को तीन लाख की स्मैक के साथ पकड़ा। पुलिस ने बताया कि पूछताछ में आरोपी ने कहा कि, वह बड़े शहरों से स्मैक लाकर स्थानीय स्तर पर उपलब्ध करा रहा था।

पुलिस का हेल्पलाइन नंबर जारी
पुलिस मुख्यालय ने ड्रग्स तस्करों का नेटवर्क ध्वस्त करने के लिए एसटीएफ के अधीन एंटी ड्रग्स सेल का गठन किया है। आईपीएस अजय सिंह नोडल अधिकारी हैं। एंटी ड्रग्स सेल ने ड्रग्स नेटवर्क की जानकारी देने के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। कोई भी व्यक्ति 9412029536 पर पुलिस को सूचना दे सकता है।

चमोली में इसी माह स्मैक तस्करी के दो मामले आए
स्मैक जैसा खतरनाक नशा पहाड़ में तेजी से पहुंच रहा है। चमोली में इसी माह में स्मैक तस्करी के दो मामले सामने आए। एक घटना कर्णप्रयाग और दूसरी घटना गोपेश्वर में सामने आई। थानाध्यक्ष रविंद्र सिंह नेगी ने बताया कि पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान के निर्देश पर अवैध शराब, चरस, स्मैक सहित नशे के पदार्थों की तस्करी के खिलाफ अभियान तेजी से चलाया जा रहा है। शनिवार को 20 ग्राम स्मैक तस्करी में पकड़ा गया आरोपी विपिन पाल पुत्र रामचंद्र पाल देहरादून के शिव विहार कॉलोनी स्थित सेवलाकलां का रहने वाला है। उन्होंने बताया कि आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। गोपेश्वर पुलिस और एसओजी की टीम ने संयुक्त कार्रवाई के दौरान आरोपी की गिरफ्तारी की।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:drug paddler drug mafias active in small towns cities in uttarakand police acting tough to arrest drug smugglers