ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडमर्डर करने के बाद लाश के पास रातभर सोता रहा दोस्त...4 दोस्ताें ने सरकारी आवास में किया था मर्डर

मर्डर करने के बाद लाश के पास रातभर सोता रहा दोस्त...4 दोस्ताें ने सरकारी आवास में किया था मर्डर

रामनगर के खताड़ी चौकी से सटे शिक्षा विभाग के सरकारी आवास के कमरे में रात 11 बजे बीईओ ऑफिस के क्लर्क समेत चार युवकों ने भास्कर पांडे की हत्या को अंजाम दिया है। पुलिस ने 4 दोस्तों को गिरफ्तार किया।

मर्डर करने के बाद लाश के पास रातभर सोता रहा दोस्त...4 दोस्ताें ने सरकारी आवास में किया था मर्डर
Himanshu Kumar Lallरामनगर। राजू वर्माTue, 06 Dec 2022 12:53 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

रामनगर के खताड़ी चौकी से सटे शिक्षा विभाग के सरकारी आवास के कमरे में रात 11 बजे बीईओ ऑफिस के क्लर्क समेत चार युवकों ने भास्कर पांडे की हत्या को अंजाम दिया है। शव को अवधेश के सरकारी कमरे में ही छोड़ने के बाद अभिजीत उर्फ अभी कश्यप, कौशल चिलवाल व हर्षित कोहली का अपने घर को चले गए, लेकिन अवधेश भास्कर के शव के पास ही सो गया।

सुबह जब उसकी आंखें खुलीं तो उसने आवास से बाहर आकर पुलिस को मामले की सूचना दी। रामनगर बीईओ ऑफिस से तैनात अवधेश का परिवार पिथौरागढ़ में ही रहता है। उसे यहां पर सरकारी आवास मिला है। मृतक भास्कर पांडे, अभिजीत कौशल व हर्षित कोहली व खुद सप्ताह में एक बार पार्टी करते थे।

रविवार को भी अवधेश के कहने पर कौशल व अन्य आरोपी मटन, चिकन आदि लेकर आए और एक साथ बैठक कर शराब पी। नौ बजे भास्कर अपने घर को जाने लगा तो चाबी को लेकर आरोपियों से गाली गलौज होने लगी। इसके बाद कौशल व हर्षित ने भास्कर को पीटा और पिटाई के बाद अवधेश व भास्कर को सरकारी आवास में ही छोड़कर तेलीपुरा रोड चले गए।

1030 बजे अवधेश के कहने पर आरोपी दोबारा से सरकारी आवास पर आए और 11 बजे तार व बेल्ट गले में डाल कर भास्कर की हत्या कर दी। इसके बाद तीनों अपने-अपने घरों को चले गए, लेकिन अवधेश शव के पास ही पड़े बेड पर सोता रहा। कोतवाल ने बताया कि अवधेश के सरकारी आवास में तीन रूम हैं।

मृतक के भाई उमेश चंद्र पांडे की तहरीर पर आरोपियों पर हत्या समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले का खुलासा करने वाली टीम में एसएसआई प्रेम राम विश्वकर्मा, मनोज अधिकारी, अनीश अहमद, कश्मीर सिंह, सुभाष चौधरी, हेमन्त सिंह, महबूब आलम, प्रयाग कुमार रहे।

नजदीक ही थी पुलिस
जिस सरकारी आवास में भास्कर की हत्या की गई, वह खताड़ी पुलिस चौकी से चंद कदमों की दूरी पर है। रात में दोस्तों के बीच हुए लड़ाई-झगड़े की पुलिस को भनक तक नहीं लगी। जबकि रात के समय भास्कर का अपने दोस्तों से दो बार विवाद हुआ था।

कौशल ने दी थी गला काटने की धमकी
अवधेश ने ही शव पड़े होने की सूचना डायल 112 पर दी। इसके बाद फरार हो गया। पुलिस जब अन्य आरोपियों के घर पहुंची तो परिजन हैरत में पड़ गए। इसके बाद पुलिस ने हत्या की जानकारी दी। पुलिस के अनुसार दो माह पहले मृतक भास्कर की दोस्ती कौशल से हुई थी। कौशल पर मारपीट के मुकदमे भी हैं। कौशल ने मृतक को डराने के लिए पास में पड़ी आरी भी निकाली थी। इससे वह भास्कर का गला काटने की धमकी दे रहा था। मृतक का फोन आरोपियों ने चिल्किया के पास केंक दिया। खुलासे पर एसएसपी ने पुलिस टीम को पांच हजार रुपये का ईनाम भी दिया है।

पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए मामले का खुलासा किया है। हत्या में प्रयुक्त तार, बेल्ट बरामद किए हैं। कौशल पर मारपीट का केस है। नशे को लेकर रामनगर पुलिस विशेष अभियान छेड़ रही है।
अरुण कुमार सैनी, रामनगर कोतवाल