DA Image
27 अक्तूबर, 2020|8:27|IST

अगली स्टोरी

दून विवि में विदेशी भाषा कोर्स की वैधता पर सवाल,पढ़िए पूरी खबर  

Degree

दून यूनिवर्सिटी में संचालित हो रहे विदेशी भाषाओं का पाठ्यक्रम एडवायजरी और एकेडमिक कमेटी से मंजूरी के बिना ही लागू कर दिए गए। अब आरटीआई में इसका खुलासा होने पर यूनिवर्सिटी ने इन विषयों का पाठ्यक्रम दोनों कमेटियों से मंजूर कराने का निर्णय लिया है। 

दून विवि में 2012 से ही जर्मन, चायनीज, फ्रैंच, स्पैनिश, जापनीज जैसी विदेशी भाषाओं की पढ़ाई चल रही है। इसमें यूनिवर्सिटी एक साल का सर्टिफिकेट प्रदान करती है, लेकिन इस मामले में विवि की बड़ी चूक सामने आई है। चाइनीज भाषा के एक छात्र की ओर से दाखिल आरटीआई में खुलासा हुआ है कि विदेशी भाषा के पाठ्यक्रमों के लिए विवि ने एडवायजरी और एकेडमिक काउंसिल से मंजूरी नहीं ली गई।

पाठ्यक्रम भी यूनिवर्सिटी वेबसाइट पर नहीं है। जबकि इस बीच हजारों छात्र यहां से पासआउट हो चुके हैं। अब आरटीआई पर सुनवाई करते हुए दून विश्वविदालय के प्रथम अपीलीय अधिकारी प्रोफेसर एचसी पुरोहित ने लोक सूचना अधिकारी को स्पष्ट आदेश दिए हैं कि सभी विदेशी भाषाओं के पाठ्यक्रम को एडवाइजरी और एकेडमिक कमिटी से मंजूर करवा जाए। कोविड के चलते उक्त बैठक ऑनलाइन भी आयोजित हो सकती है। 


सभी पाठ्यक्रमों की विधिवत मंजूरी है। फिर भी लोक सूचना अधिकारी को कहा गया है कि यदि कोई कमी रह गई हो तो इसे प्राथमिकता पर दूर कर दिया जाए। छात्रों की सुविधा के लिए पाठ्यक्रम वेबसाइट पर उपलब्ध कराने को कहा गया है।
प्रो. एचसी पुरोहित, प्रथम अपीलीय अधिकारी, दून यूनिवर्सिटी 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:doon university foreign language courses under scanner in uttarakand