ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडसावधान: बच्चों को पार्क में न भेजें, देहरादून में बच्चे पर गुलदार का हमला; हमले में जा सकती है जान!

सावधान: बच्चों को पार्क में न भेजें, देहरादून में बच्चे पर गुलदार का हमला; हमले में जा सकती है जान!

सोसायटी के अन्दर जिन लोगों के घरों में कुत्ते हैं, वो लोग सावधान रहें। शाम के समय लोग सोसायटी के ग्राउण्ड में कुत्तों को न घुमाएं। वहीं गुलदार के हमले के बाद लोगों में दहशत है।

सावधान: बच्चों को पार्क में न भेजें, देहरादून में बच्चे पर गुलदार का हमला; हमले में जा सकती है जान!
guldar
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, हिन्दुस्तानMon, 15 Jan 2024 09:48 AM
ऐप पर पढ़ें


देहरादून के चिड़ोवाली में बच्चे पर गुलदार के हमले के बाद वन विभाग ने अलर्ट जारी किया है। रेंजर राकेश नेगी ने कहा कि लोग शाम चार बजे बाद बच्चों को पार्क में ना खेलने दें। साथ ही सुबह और शाम के समय अंधेरा रहने पर घूमने न जाएं। सोसायटी के अन्दर जिन लोगों के घरों में कुत्ते हैं, वो लोग सावधान रहें। शाम के समय लोग सोसायटी के ग्राउण्ड में कुत्तों को न घुमाएं।

हीं गुलदार के हमले के बाद लोगों में दहशत है। लोग तुरंत ही अपने अपने घरों के अंदर चले गए। यहां तक की घटना से करीब दो सौ मीटर ऊपर भी मैदान में खेल रहे बच्चे भी दहशत के चलते खेल छोड़कर वहां से भाग गए। गुलदार की दहशत का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि काफी व्यस्त रहने वाली कैनाल रोड पर भी सन्नाटा छा गया। सड़क पर वाहनों की आवाजाही भी काफी कम हो गई थी।

हमला मेन कैनाल रोड से कुछ दूर स्थित खाले में हुआ। वो भी आग के आसपास ही गुलदार ने बच्चे पर हमला किया। जबकि वहां छह सात लोग मौजूद थे। करीब दो सौ मीटर दूर ही कई बच्चे रोजाना की तरह खेल भी रहे थे। गुलदार के हमले की सूचना मिलने के बाद वे भी वहां से भाग खड़े हुए। जबकि लोग घरों से बाहर निकले ही नहीं।

सूचना के बाद वन विभाग की गई टीमें वहां गुलदार की तलाश में जुट गई। रेंजर राकेश नेगी ने बताया कि वहां पहले भी गुलदार देखा गया है। यहां जंगली सूअर और हिरन भी आते हैं। उन्हीं की तलाश में गुलदार भी वहां आया होगा। गुलदार को लेकर वहां पहले भी अलर्ट किया गया था, इसके बावजूद छोटे बच्चे वहां आग जलाकर खेलने आए थे। गुलदार को पकड़ने के लिए पिंजरा लगाया गया है। साथ ही जितेंद्र बिष्ट के नेतृत्व में क्यूआरटी को भी गश्त पर लगाया गया है।

एक से ज्यादा गुलदार !
रेस्क्यू टीम के लीडर जितेंद्र बिष्ट ने बताया कि लोग तीन गुलदार वहां होने की बात कह रहे हैं। हालांकि ऐसा अभी तक प्रमाण नहीं मिला है,ना ही किसी ने देखा है। लेकिन गुलदार एक है या ज्यादा ये नहीं कहा जा सकता। सभी जगह तलाश की जा रही है। ताकि गुलदार को पकड़ा जा सके।

सिर में गहरे घाव, हालत खतरे से बाहर
गुलदार के हमले से घायल 12 वर्षीय बच्चे निखिल को दून अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डिप्टी एमएस डॉ. धनंजय डोभाल के मुताबिक, बच्चे के सिर पर हमला किया गया है। सिर में काफी गहरे घाव हैं। इनको साफ कर ड्रेसिंग कर दी गई है, ऑब्जरवेशन के लिए आईसीयू में रखा गया है।

बच्चे की हालत खतरे से बाहर है। प्लास्टिक सर्जन डॉ. शिवम ढांग की देखरेख में बच्चों को भर्ती किया गया है। सीटी स्कैन समेत अन्य जांच कराई जा रही है। वहीं दून अस्पताल में रेंजर राकेश नेगी ने पहुंचकर बच्चे का हाल जाना। उन्होंने बताया कि बच्चा की हालात खतरे से बाहर है। बच्चा बातचीत कर रहा है।