ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तराखंडडिग्री कॉलेजों के छात्रों की बनेगी डिजिटल हेल्थ आईडी, उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने  बताया क्या होगा फायदा

डिग्री कॉलेजों के छात्रों की बनेगी डिजिटल हेल्थ आईडी, उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने  बताया क्या होगा फायदा

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा है कि प्रदेश के डिग्री कॉलेजों में अध्ययनरत सभी छात्र- छात्राओं की डिजिटल हेल्थ आईडी बनाई जाएगी। पाठ्यक्रम में नैतिक शिक्षा संबंधी विषयों को भी जोड़ा जाएगा। 

डिग्री कॉलेजों के छात्रों की बनेगी डिजिटल हेल्थ आईडी, उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने  बताया क्या होगा फायदा
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, मुख्य संवाददाताSun, 08 Jan 2023 05:43 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा है कि प्रदेश के डिग्री कॉलेजों में अध्ययनरत सभी छात्र- छात्राओं की डिजिटल हेल्थ आईडी बनाई जाएगी। पाठ्यक्रम में नैतिक शिक्षा संबंधी विषयों को भी जोड़ा जाएगा। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ रावत ने रविवार को राष्ट्रीय दृष्टिबाधितार्थ संस्थान सभागार में श्रीदेव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय से सम्बद्ध अशासकीय और निजी शिक्षण संस्थानों के साथ विभिन्न बिन्दुओं पर चर्चा की।

बैठक में डॉ. रावत ने कहा कि प्रदेश में उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहे सभी छात्र-छात्राओं की डिजिटल हेल्थ आईडी अनिवार्य रूप से बनाई जाएगी, ताकि छात्र-छात्राओं के स्वास्थ्य से संबंधित जानकारियां ऑनलाइन सुरक्षित रह सकेगी। सभी छात्र-छात्राओं के आयुष्मान कार्ड भी बनाए जाएंगे, जिसके लिये राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण विश्वविद्यालयों के साथ क्यूआर कोड़ साझा करेगा। जिसे विश्वविद्यालय अपने संबद्ध संस्थानों को उपलब्ध कराएगा जिसके आधार पर ही डिजीटल हेल्थ आईडी के लिए पंजीकरण संभव होगा।

डॉ. रावत ने कहा कि सभी उच्च शिक्षण संस्थानों में सुभाष चन्द्र बोस जयंती 23 जनवरी से लेकर एक माह तक रक्तदान शिविरों का आयोजन किया जाएगा। छात्र-छात्राओं को स्वैच्छिक रक्तदान के लिये ई-रक्तकोश, आरोग्य सेतु ऐप और विभागीय पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा, इस आधार पर जरूरत के समय उन्हें रक्तदान के लिये बुलाया जा सकेगा। मंत्री नेकहा कि एनईपी-2020 के तहत विश्वद्यालयों के पाठ्यक्रम में भारतीय ज्ञान परम्परा आधारित नैतिक शिक्षा से संबंधित विषयों को भी शामिल किया जाएगा।

साथ ही विश्वविद्यालयों को एक प्रवेश, एक परीक्षा, एक परिणाम और एक चुनाव की कार्य योजना पर काम कर अगले शैक्षणिक सत्र से लागू करने के निर्देश दिये। बैठक में श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो महावीर सिंह रावत ने विश्वविद्यालय के कार्यक्रमों की जानकारी दी। बैठक में महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ विनीता शाह, निदेशक एनआईवीएच डॉ मनीष वर्मा, वरिष्ठ प्रशिक्षण अधिकारी एनईवीएच जगदीश लखेड़ा, कुलसचिव खेमराज भट्ट, सहायक परीक्षा नियंत्रक डॉ हेमंत बिष्ट उपस्थित रहे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें