digilocker acts as substitute to keep vehicle documents - केंद्र ने प्रदेश में डिजिलॉकर को मान्यता दी, वाहन से जुड़े दस्तावेज सुरक्षित और कभी भी देखे जा सकेंगे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केंद्र ने प्रदेश में डिजिलॉकर को मान्यता दी, वाहन से जुड़े दस्तावेज सुरक्षित और कभी भी देखे जा सकेंगे

अब चालकों को गाड़ी की आरसी, ड्राइविंग लाइसेंस, इंश्योरेंस साथ नहीं रखने होंगे। जल्द ही इस झंझट से मुक्ति मिल सकेगी। अब चालक दस्तावेज डिजिलॉकर में रखकर अपने मोबाइल में सेव रखा जा सकता है, जो कि चालान के वक्त मान्य होंगे। राज्य में इसकी मान्यता को लेकर केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय से अनुमति मांगी गई थी। केंद्र से मान्यता के बाद गुरुवार को यातायात निदेशक केवल खुराना ने सभी जनपदों को इसके निर्देश दिए हैं। जिसमें कहा गया है कि जनपदों में जब ई-चालान मशीन से चालान शुरू हो जाएगा उसके बाद डिजिलॉकर पूरी तरह से मान्य होगा। 

ऐसे करेंगे इस्तेमाल: मोबाइल के प्ले स्टोर या एप स्टोर में डिजिलॉकर एप है। अगर कोई इस्तेमाल करना चाहता है तो एप डाउनलोड करना होगा। इसके बाद गाड़ी के सारे दस्तावेज और डीएल स्कैन कर इसमें डालने होंगे। जो कि इस लॉकर में सेव हो जाएंगे। जोकि कहीं भी एक क्लिक में देखे जा सकते हैं।

केंद्र ने प्रदेश में डिजिलॉकर को मान्यता दे दी है। इससे दस्तावेज सुरक्षित रहेंगे और कभी भी आसानी से देखे जा सकेंगे। ये नई तकनीक आने वाले वक्त के लिए जरूरी है। ई चालान के साथ ये अनिवार्य होगा। सामान्य चालान में इसकी मान्यता को लेकर नियम स्पष्ट किया जा रहा है। 
केवल खुराना, यातायात निदेशक

 
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:digilocker acts as substitute to keep vehicle documents