ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडधर्म संसद: हेट स्पीच मामले में जेल में बंद जितेंद्र त्यागी के ट्वीट से हड़कंप, पत्नी की हत्या की जताई आशंका

धर्म संसद: हेट स्पीच मामले में जेल में बंद जितेंद्र त्यागी के ट्वीट से हड़कंप, पत्नी की हत्या की जताई आशंका

धर्म संसद में भड़काऊ भाषण मामले में जेल में बंद जितेंद्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिजवी के ट्वीटर हैंडल के वायरल स्क्रीन शॉट से पुलिस में हड़कंप मच गया। इस ट्वीट में त्यागी ने अपनी पत्नी की हत्या की...

धर्म संसद: हेट स्पीच मामले में जेल में बंद जितेंद्र त्यागी के ट्वीट से हड़कंप, पत्नी की हत्या की जताई आशंका
Himanshu Kumar Lallसंवाददाता, हरिद्वार Sat, 22 Jan 2022 08:24 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

धर्म संसद में भड़काऊ भाषण मामले में जेल में बंद जितेंद्र नारायण त्यागी उर्फ वसीम रिजवी के ट्वीटर हैंडल के वायरल स्क्रीन शॉट से पुलिस में हड़कंप मच गया। इस ट्वीट में त्यागी ने अपनी पत्नी की हत्या की आशंका जताई है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे ट्वीट के स्क्रीन शॉट में जितेंद्र नारायण त्यागी की लखनऊ में रहने वाली पत्नी की जान बचाने की गुहार लगाई गई है।

न्याय के लिए अपील करते हुए उनकी पत्नी की ओर से लखनऊ के थाना सआदतगंज के थाना प्रभारी को दिया गया प्रार्थना पत्र भी अपलोड किया गया है। अपील में लिखा है कि कुछ धर्मगुरुओं ने मारपीट कर उनकी पत्नी को घर से निकाल दिया है। आरोप है कि इस मामले में यूपी पुलिस का एक एसआई भी धर्मगुरुओं का साथ दे रहा है।

ट्वीट में लिखा गया है कि उनकी पत्नी की हत्या भी की जा सकती है। उनके परिवार को डराया-धमकाया जा रहा है। ट्वीट वायरल होने के बाद इस मामले में जांच शुरू हो गई है। डीआईजी/एसएसपी डा. योगेंद्र सिंह रावत का कहना है कि यह मामला लखनऊ का है, इसलिए लखनऊ पुलिस जांच कर रही है। अगर यहां इस संबंध में कोई शिकायत की जाती है तो उसकी जांच की जा रही है।

आनंद स्वरूप का दावा, जेल अधीक्षक ने किया खारिज
धर्म संसद के आयोजक स्वामी आनंद स्वरूप का कहना है कि जितेंद्र नारायण त्यागी के ट्वीटर अकाउंट को हैंडल करने वाले व्यक्ति ने मुलाकात के बाद जेल से बाहर आकर उनकी तरफ से ट्वीट कर मदद की गुहार लगाई है। इस पर जेल के वरिष्ठ अधीक्षक मनोज कुमार आर्य का कहना है कि जितेंद्र नारायण त्यागी की ओर से ऐसी कोई लिखित या मौखिक शिकायत उनसे नहीं की है। कोविड के चलते बंदियों से मुलाकातें पूरी तरह बंद हैं, जितेंद्र त्यागी से भी किसी की कोई मुलाकात नहीं हुई है। यह बात पूरी तरह फर्जी है।

epaper