ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडचारधाम यात्रा में भक्तों को नहीं होगी कोई टेंशन, धामी सरकार का ट्रैफिक जाम-पार्किंग पर प्लान

चारधाम यात्रा में भक्तों को नहीं होगी कोई टेंशन, धामी सरकार का ट्रैफिक जाम-पार्किंग पर प्लान

चारधाम यात्रा में हर साल श्रद्धालुओं की संख्या में तेजी से वृद्धि होगी, लिहाजा अभी से यह तैयारी पूरी कर ली जाए कि यात्रा और अन्य पर्यटन मार्गों पर श्रद्धालुओं और वाहनों की धारण क्षमता लगभग कितनी है।

चारधाम यात्रा में भक्तों को नहीं होगी कोई टेंशन, धामी सरकार का ट्रैफिक जाम-पार्किंग पर प्लान
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, हिन्दुस्तानMon, 27 May 2024 07:12 PM
ऐप पर पढ़ें

चारधाम की यात्रा के दौरान आने वाले दिनेां में तीर्थ यात्रियों को किसी भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। ट्रैफिक जाम के झाम से निजात मिलेगी। दूसरी ओर, तीर्थ यात्रियों को पार्किंग की सुविधा भी आसानी से मिल जाएगी। चारधाम यात्रा रूट पर पुष्कर सिंह धामी सरकार ने प्लानिंग की है।

मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने उत्तराखंड चारधाम व मानसखंड माला मंदिर मिशन की समीक्षा के दौरान अफसरों को यात्रा मार्गों पर श्रद्धालुओं और वाहनों की धारण क्षमता का आंकलन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि तीर्थाटन और पर्यटन मार्गों पर पार्किंग व मूलभूत सुविधाएं जुटाने में प्राथमिकता दी जाए।

सोमवार को सीएम धामी ने कहा कि चारधाम यात्रा में हर साल श्रद्धालुओं की संख्या में तेजी से वृद्धि होगी, लिहाजा अभी से यह तैयारी पूरी कर ली जाए कि यात्रा और अन्य पर्यटन मार्गों पर श्रद्धालुओं और वाहनों की धारण क्षमता लगभग कितनी है।

उन्होंने पर्यटक स्थलों पर पार्किंग और अन्य मूलभूत आवश्यकताओं से संबंधित प्रस्ताव आवास विभाग को भेजने के निर्देश दिए। यह भी कहा चारधाम यात्रा के चरम सीमा वाली अवधि में हर साल के लिए विशेष प्लान क्या हो सकता है।

उन्होंने कहा कि भविष्य में ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल सेवा शुरू होनी है। ऐसे में रेल मार्गों के साथ ही कर्णप्रयाग व उसके आस-पास के क्षेत्रों में पार्किंग एवं अन्य मूलभूत सुविधाएं जुटाने के लिए भी अभी से कार्ययोजना बनाई जाए।

उन्होंने चारधाम यात्रा सुचारू रूप से चलने पर संतोष जताया है और कहा कि 31 मई तक ऑफलाईन रजिस्ट्रेशन बंद रखे जाए। बैठक में मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव आरके सुधांशु,डीजीपी अभिनव कुमार,सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम, शैलेश बगोली आदि मौजूद रहे, जबकि कई अफसर वर्चुअल शामिल हुए।

श्रद्धालुओं की सुविधा पर हो रूट डायवर्ट
मुख्यमंत्री ने गढ़वाल और कुमाऊं के कमिश्नर को चारधाम और पर्यटक स्थलों पर श्रद्धालुओं और पर्यटकों की सुविधा के अनुसार ही रूट डायवर्ट करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पर्यटकों को कहीं भी अनावश्यक असुविधा का सामना न होने दें।

कैंचीधाम में पार्किंग की व्यवस्था हो
उन्होंने कहा कि कैंची धाम और पूर्णागिरी में भी श्रद्धालुओं की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इन स्थानों पर भी मूलभूत सुविधाओं के अलावा पर्याप्त पार्किंग की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कैंची धाम के लिए शटल बस सेवा शुरू करने के निर्देश दिए।

उन्होंने गढ़वाल और कुमांऊ की कनेक्टिविटी को और मजबूत करने और पर्यटन तथा तीर्थाटन की दृष्टि से दोनों मंडलों को श्रद्धालुओं से जोड़ने लिए रानीखेत और चौखुटिया क्षेत्र में होम स्टे व अन्य सुविधाओं को विस्तार देने को कहा।

यात्रा समाधान का प्रस्तुतीकरण
बैठक में अफसरों ने चारधाम यात्रा को सुगम और बेहतर बनाने के लिए ‘यात्रा समाधान’ मोबाइल एप्लीकेशन का प्रस्तुतीकरण भी दिया। इस मोबाइल एप्लीकेशन के माध्यम से यात्रा से जुड़े सभी पक्षकार बीकेटीसी, मंदिर प्रशासन, होटल, टूर ऑपरेटर्स, ट्रांसपोर्टस आपस में जुड़ सकेंगे। मुख्यमंत्री ने आईटीडीए और पर्यटन विभाग को इसे और बेहतर बनाने के निर्देश दिए।