DA Image
26 अक्तूबर, 2020|7:34|IST

अगली स्टोरी

केदारनाथ :सभा मंडप से अब श्रद्धालु कर सकेंगे ज्योतिर्लिंग के दर्शन

kedarnath dham

केदारनाथ धाम में दर्शनों को जाने वाले भक्तों को अब सभा मंडप में प्रवेश करते हुए भगवान आशुतोष के 11वें ज्योतिर्लिंग के भव्य दर्शन होंगे।

अभी तक कोरोना संक्रमण के खतरे के चलते चारधाम देवस्थानमं बोर्ड ने मंदिर के बाहर नंदी के पास खड़ा होकर ही भक्तों को दर्शन करने का अवसर दिया जा रहा था।

किंतु अब सभा मंडप में प्रवेश करने के साथ ही 1 मिनट तक बाबा के दिव्य ज्योर्तिलिंग के दर्शन करने का मौका मिलेगा। विश्व के साथ ही भारत और उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के चलते इस बार केदारनाथ धाम के कपाट काफी सागदी से खोले गए।

जबकि किसी भी भक्त को केदारनाथ जाने की अनुमति नही दी गई। चारधाम देवस्थानम बोर्ड ने छूट देते हुए सबसे पहले रुद्रप्रयाग जिले के लोगों को धाम जाने की अनुमति दी किंतु यह भी महज मंदिर के बाहर नंदी के पास खड़े होकर ही दर्शन करने की बाध्यता के साथ।

अब जिले के साथ ही उत्तराखंड प्रदेश के लोगों को केदारनाथ जाने की अनुमति दी गई है। इस बार बाध्यता में थोड़ा बहुत बदलाव किया गया है।

भक्तों को बड़ी राहत मिली है। गौरीकुंड से 17 किमी की पैदल दूरी तय करने के बाद केदारनाथ पहुंचे भक्त मंदिर के गर्भगृह में तो नहीं जा पाएंगे किंतु सभा मंडप में जाकर भगवान के दिव्य ज्योतिर्लिंग के दर्शन जरूर कर सकेंगे। ऐसे में भक्तों को यह मलाल भी नहीं होगा कि केदारनाथ आने के बाद भी बाबा केदार के दर्शन नहीं हो पा रहे हैं।

 

सभा मंडप में इनके भी होंगे दर्शन
केदारनाथ मंदिर के अंदर सभा मंडप से भगवान के ज्योर्तिलिंग के साथ भक्तों को नंदी की पीपत की मूर्ति, वीरभद्र, लक्ष्मीनारायण, पाण्डवों की मूर्ति आदि देवताओं के भी दर्शन होंगे। जबकि गिमगिरी में मौजूद मां पार्वती की मूर्ति के भी दिव्य दर्शन होंगे।

 

एक बार में 120 मीटर लम्बी लगेगी लाइन
केदारनाथ में दर्शन करने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन होगा। 2-2 मीटर की दूरी में मंदिर के सभा मंडप में भी खड़े होने की बाध्यता होगी। साथ ही 120 मीटर लम्बी लाइन ही मंदिर परिसर में लगाई जाएगी। ऐसे में एक घंटे में 60 लोग दर्शन कर सकेंगे।

 

बदरीनाथ और केदारनाथ में मंदिर के अंदर की संरचना अलग अलग है। केदारनाथ जाने वाले भक्त सभा मंडप में जा सकेंगे किंतु गर्भगृह में जाने की अनुमति नहीं है।
सभा मंडप से ही बाबा केदार के ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने का मौका मिलेगा। साथ ही 2-2 मीटर की दूरी का पालन करना होगा। मंदिर के बाहर एक बार में 120 मीटर लम्बी लाइन ही लगाई जाएगी।
रविनाथ रमन, मुख्य कार्याधिकारी चारधाम देवस्थानम बोर्ड
 
  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:devotees can pay obeisance at baba jyotirllnga from sabha mandal in kedarnath shrine as char dham reopens amid corona virus pandemic