DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गजब: नेताओं के लिए बैरिकेडिंग खोले तो जनता को लौटाया

अपनी मांगों को लेकर संगठनों व नेताओं की विधानसभा कूच में निकली रैलियों के कारण जनता को फजीहत उठानी पड़ी। दया पैलेस चौक पर लगी बैरिकेडिंग से किसी भी वाहन चालक को रिस्पना पुल की तरफ जाने नहीं दिया जा रहा था। वहीं नेताओं की गाड़ी के लिए इसी बैरिकेडिंग को खोल दिया गया, जबकि उस वक्त एक स्कूल के बच्चे नाले के किनारे से बच बच कर निकल रहे थे। 
गैरसैंण अभियान से जुड़े कार्यकर्ताओं की रैली दया पैलेस चौक पर लगी बैरिकेडिंग पर रोक दी।  स्कूल में छोटे छोटे बच्चों को लेने के लिए अभिभावकों को अपनी गाड़ी सड़क पर खड़ी करके जाना पड़ा। तभी कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय की गाड़ी बैरिकेडिंग के पास पहुंची।  उन्हें पूर्व सीएम हरीश रावत के धरने पर जाना था।  तभी धरना स्थल से शहर की तरफ जा रहे प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह की गाड़ी भी इसी बैरिकेडिंग पर पहुंची तो पुलिस ने उन्हें जाने दिया। जबकि अन्य  तमाम लोग इसी बैरिकेडिंग से वापस होकर अन्य रास्तों से अपने गंतव्य को गए। 


धर्मपुर सब्जी मंडी, फव्वारा चौक से दया पैलेस चौक तक जाम
विधानसभा सत्र के चलते निकली रैलियों के कारण ट्रैफिक डायवर्ट करने के कारण जाम लगा।  दोपहर को स्कूलों की छूट्टी के बाद तो धर्मपुर से लेकर दया पैलेस चौक तक वाहनों की लंबी कतार लग गई।  दोपहर 2.30 बजे।  धर्मपुर सब्जी मंडी से नेहरू कालोनी लक्ष्मी रोड चौराहा से लेकर फव्वारा चौक तक वाहनों की लंबी कतार रही।  आगे राजीव नगर पुल तक भी कमोबेश ऐसा ही हाल था।  वहीं दया पैलेस चौक से फव्वारा चौक के बीच भी वाहनों की लंबी कतार रही।  इस कारण फव्वारा चौक पर वाहनों का खासा दबाव होने से जाम की समस्या रही। 

चार घंटे बंद रही हरिद्वार रोड
पूर्व सीएम हरीश रावत का धरना, गैरसैंण अभियान और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के विधानसभा कूच के चलते हरिद्वार रोड सुबह 11 बजे से लेकर अपराह्न तीन बजे बंद रही। इससे नेहरू कालोनी, धर्मपुर, शास्त्री नगर, राजीव नगर, दीपनगर, फ्रैंडस कालोनी, जोगीवाला, नत्थनपुर, प्रकृति विहार क्षेत्र के लोग खासतौर से प्रभावित हुए।  
 

 
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:dehradun police stops common man while opens barricades for politicians during vidhan sabha session