DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तराखंड › ऐसे तो नहीं हारेगी कोरोना तीसरी लहर,आधे अस्पतालों में भी नहीं कोविड जांच सुविधा
उत्तराखंड

ऐसे तो नहीं हारेगी कोरोना तीसरी लहर,आधे अस्पतालों में भी नहीं कोविड जांच सुविधा

हिन्दुस्तान टीम, देहरादूनPublished By: Himanshu Kumar Lall
Thu, 29 Jul 2021 11:06 AM
ऐसे तो नहीं हारेगी कोरोना तीसरी लहर,आधे अस्पतालों में भी नहीं कोविड जांच सुविधा

उत्तराखंड में कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी बेहद धीमी रफ्तार से चल रही हैं। सरकार ने 31 जुलाई तक सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) में कोविड जांच की सुविधा शुरू करने का निर्णय लिया था पर यह काम अभी पचास प्रतिशत भी पूरा नहीं हो पाया है। कोरोना की संभावित तीसरी लहर से लड़ने के लिए सरकार ने टाइप वन और टाइप टू प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) में आरटीपीसीआर,ट्रूनेट और एंटिजन जांच की सुविधा शुरू करने का निर्णय लिया था। फिलहाल यह लक्ष्य समय पर हासिल होता नहीं दिख रहा है। राज्य में कुल 578 टाइप वन और टाइप टू पीएचसी हैं।

इनमें से अभी तक 250 अस्पतालों में ही जांच शुरू हो पाई हैं। इनमें भी अधिकांश में एंटीजन जांच ही हो रही है। शासन के सूत्रों ने बताया कि सभी पीएचसी में जांच शुरू न होने के बाद शासन व स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी सीएमओ को जांच की सुविधा बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। इधर, स्वास्थ्य मंत्री डॉ.धन सिंह रावत ने कहा कि हर पीएचसी में कोविड जांच की सुविधा शुरू की जा रही है। अफसरों को यह काम जल्द पूरा करने को कहा है। कोविड की अगली लहर में कहीं भी जांच में दिक्कत न आए इसलिए यह कदम उठाया जा रहा है।

लक्ष्य बड़ा है इसलिए पूरा होने में समय लग रहा है। आपको बता दें कि उत्तराखंड में बुधवार को एक बार फिर कोरोना मरीजों की संख्या में वृद्धि दर्ज की गई। दरअसल राज्य में पिछले चार दिनों से कोरोना के मरीज लगातार बढ़ रहे थे। लेकिन मंगलवार को इसमें कुछ कमी आई थी। बुधवार को एक बार फिर मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार बुधवार को राज्य में कोरोना के 60 नए मरीज मिले जबकि किसी भी संक्रमित की मौत नहीं हुई। इसके साथ ही राज्य में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 3 लाख 41 हजार 934 हो गई है। बुधवार को यूएस नगर में 13, देहरादून में 10 नए मरीज मिले। 

इसके अलावा अन्य सभी जिलों में संक्रमितों की संख्या दहाई से कम रही है। जबकि बागेश्वर और चमोली में एक भी नया संक्रमित नहीं मिला है। राज्य भर के अस्पतालों से 24 हजार से अधिक सैंपल जांच के लिए भेजे गए जबकि 27 हजार से अधिक सैंपलों की रिपोर्ट आई है। राज्य के विभिन्न अस्पतालों में इलाज करा रहे व होम आईसोलेशन में रह रहे 46 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया। जिससे राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 672 हो गई है। राज्य में संक्रमण की दर 0.22 प्रतिशत जबकि मरीजों के ठीक होने की दर 96 प्रतिशत के करीब चल रही है
 

संबंधित खबरें