क्या उत्तराखंड में एक हफ्ते और बढ़ेगा कोविड कर्फ्यू ? कुछ राहत मिलेगी या जारी रहेंगी पाबंदिया

उत्तराखंड में कोविड कर्फ्यू अगले एक हफ्ते के लिए बढ़ना तय है। सूत्रों की मानें तो आमजन को राहत देते हुए सरकार पाबंदिया हटा सकती हैं। रविवार को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत और कैबिनेट मंत्री व...

offline
Himanshu Kumar Lall हिन्दुस्तान टीम, देहरादून
Last Modified: Mon, 28 Jun 2021 10:41 AM

उत्तराखंड में कोविड कर्फ्यू अगले एक हफ्ते के लिए बढ़ना तय है। सूत्रों की मानें तो आमजन को राहत देते हुए सरकार पाबंदिया हटा सकती हैं। रविवार को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत और कैबिनेट मंत्री व सरकारी प्रवक्ता सुबोध उनियाल के राजधानी से बाहर होने पर नई एसओपी जारी नहीं हो पाई। सरकारी प्रवक्ता उनियाल ने बताया कि अब सोमवार को नई गाइडलाइन जारी की जाएगी। कुछ रियायतों के साथ सरकार अगले एक हफ्ते के लिए कोविड कर्फ्यू बढ़ाने जा रही है। उन्होंने संकेत दिए मसूरी और नैनीताल के बाजारों को खोलने का समय और दिन बदला जाएगा ताकि वीकेंड पर सैलानी पर्यटक स्थलों में सैर को जा सकें। उन्होंने कहा कि भले ही प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण की रफ्तार जरूर कुछ कम हुई है, लेकिन सभी को एहतियात बरतने की जरूरत है। कोविड गाइडलाइनस का सख्ती से पालन करना जरूरी है। कहा कि जिला प्रशासन को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि कोविड गाइडलाइन्स का उल्लंघन करने वालों पर सख्ती की जाए।

बाजार अब शाम सात बजे तक खुल सकते हैं
राज्य में सभी बाजार अब सुबह आठ बजे से शाम सात बजे तक खुल सकते हैं। इसके बाद कोविड कर्फ्यू लागू होगा। हालांकि होटल व रेस्टोरेंट रात दस बजे तक 50 फीसदी क्षमता के साथ खुल सकेंगे। अभी तक बाजार शाम पांच बजे तक ही खुल रहे थे। संक्रमण में गिरावट आने पर व्यापारी बाजार खोलने का दबाव बना रहे थे।

कोचिंग सेंटर 50 फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे
सरकार ने लगभग सवा दो माह से बंद कोचिंग सेंटर व जिम खोलने की भी तैयारी कर दी है। कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से बीती 18 अप्रैल से ये बंद हैं। अब सरकार दोनों को 50 फीसदी क्षमता के साथ खोलने जा रही है। बाजार खोलने के बावजूद कोचिंग व जिम सेंटर पर प्रतिबंध से संचालकों में नाराजगी बढ़ रही थी।

डेल्टा प्लस को लेकर सरकार गंभीर
सरकार कोरोना के डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर गंभीर है। कुछ राज्यों ने इस वैरिएंट के चलते सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। सरकारी प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने बताया कि राज्य सरकार भी इस वैरिएंट को लेकर चिंतित है, लिहाजा कुछ शर्तों के साथ कोविड कर्फ्यू अगले एक हफ्ते के लिए आगे बढ़ाया जा रहा है।

बार्डर पर नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना जरूरी
अन्य प्रदेशों से उत्तराखंड में प्रवेश करने पर कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना अभी भी अनिवार्य किया जा रहा है। इसमें आरटीपीसीआर, एंटीजन और ट्रूनेट जांच शामिल हैं। संबंधित जांच की 72 घंटें पूर्व की नेगेटिव जांच के बाद ही राज्य के भीतर प्रवेश की अनुमति दी जाएगी।
ऐप पर पढ़ें

Covid Curfew Latest News Uttarakhand