DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तराखंड  ›  कोरोना तीसरी लहर से बच्चों की सुरक्षा को जतन कर रहीं माताएं, जानिए कैसे बनाएं संक्रमण से दूरी    

उत्तराखंडकोरोना तीसरी लहर से बच्चों की सुरक्षा को जतन कर रहीं माताएं, जानिए कैसे बनाएं संक्रमण से दूरी    

हिन्दुस्तान टीम, हल्द्वानी। संतोष आर्यनPublished By: Himanshu Kumar Lall
Tue, 01 Jun 2021 02:10 PM
कोरोना तीसरी लहर से बच्चों की सुरक्षा को जतन कर रहीं माताएं, जानिए कैसे बनाएं संक्रमण से दूरी    

कोरोना की दूसरी लहर के बाद लोगों को तीसरी लहर का डर सताने लगा है। विशेषज्ञ पहले ही आशंका जता चुके हैं कि दूसरी की अपेक्षा तीसरी लहर अधिक घातक साबित होगी, विशेषकर बच्चो के लिए। ऐसे में अधिकतर अभिभावक अपने बच्चों के लिए चिंतित हैं। बच्चों की सुरक्षा को लेकर महिलाएं चिकित्सकीय परामर्श के अलावा घरेलू नुस्खे भी आजमा रही हैं। बच्चों की इम्यूनिटी बढ़ाने को पौष्टिक आहार खिला रही हैं। वहीं कई महिलाएं घर पर बच्चों को योग व प्राणायाम भी सिखा रही हैं, ताकि आने वाले खतरे से वह अपने बच्चों को सुरक्षित रख सकें। 

घबरायें नहीं बच्चों को दें पौष्टिक आहार
राजकीय मेडिकल कॉलेज की एसोसिएट प्रोफेसर (पीडियाट्रिक) डॉ. रितु रखोलिया ने कहा कि माता-पिता घबराएं नहीं। बच्चों को अच्छा पौष्टिक आहार दें। जंक फूड से दूर रखें और फलों का सेवन कराएं। योग-प्राणायाम को बच्चों की दिनचर्या में नियमित शामिल करें। इससे उनकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। बच्चों को कुछ समय के लिए धूप में बैठाएं, ताकि उन्हें विटामिन डी मिल सके।

बच्चों के लिए तीसरी लहर ज्यादा खतरनाक बताई जा रही है। ऐसे में बच्चों को संक्रमण से दूर रखने  के लिए चिकित्सक से परामर्श लिया। बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़े, इसके लिए उन्हें योग सिखा रही हूं।
मनीषा पांडेय, कुसुमखेड़ा

बच्चे घर से बाहर न निकलें, इसके लिए उनकी रुचि के अनुसार ही शैक्षणिक और विभिन्न क्रियाकलापों में व्यस्त रखती हूं। इसके अलावा नियमित भोजन के साथ काढ़ा, च्यवनप्राश देना शुरू किया है। बच्चों की सुरक्षा को लेकर अभी से सतर्कता बरतनी जरूरी है।
हेमा देवी, मुखानी

बच्चों की सुरक्षा को लेकर रोजाना ही माता-पिता फोन कर परामर्श मांग रहे हैं। माता-पिता को घबराने की जगह संयम से काम लेना चाहिए। अच्छा खानपान और कुछ सावधानियां अपना कर संक्रमण से बचा जा सकता है।  
डॉ. रितु रखोलिया, एसोसिएट प्रोफेसर (पीडियाट्रिक), मेडिकल कॉलेज  

संबंधित खबरें