DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Lok Sabha Election 2019 : खंडूड़ी के उठाए मुद्दों को हथियार बनाएगी कांग्रेस

पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता मेजर जनरल (सेवानिवृत्त) भुवन चंद्र खंडूड़ी के बेटे मनीष खंडूड़ी को पार्टी में शामिल करके कांग्रेस देशव्यापी संदेश देना चाहती है। संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष रहते जनरल खंडूड़ी ने जिन मुद्दों को उठाया था, कांग्रेस उन्हीं को केंद्र के खिलाफ हथियार की तरह इस्तेमाल करने की तैयारी में है।  कांग्रेस में शीर्ष स्तर पर चल रही मशक्कत से साफ संकेत मिल रहे  हैं कि मनीष खंडूड़ी शनिवार को देहरादून में कांग्रेस का हाथ थाम सकते हैं। उनकी एंट्री के साथ-साथ कांग्रेस का चुनावी प्लान भी तैयार है। कांग्रेस मनीष के जरिए सेना की जरूरतों और सैनिकों की उपेक्षा को मुद्दा बनाने जा रही है।  जनरल खंडूड़ी का बेटा होने की वजह से मनीष की एंट्री को खंडूड़ी की सरकार के प्रति नाराजगी के रूप में पेश किया जाएगा।

खंडूड़ी की छवि ईमानदार नेता की रही है। वे इस समय गढ़वाल संसदीय सीट से भाजपा के सांसद हैं और उनकी बेटी ऋतु खंडूड़ी भी गढ़वाल सीट के तहत आने वाले यमकेश्वर विधानसभा क्षेत्र से पार्टी की विधायक हैं। अब कांग्रेस खंडूड़ी की सीट पर ही उनके बेटे को लोकसभा चुनाव में उतारकर भाजपा पर मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने की कोशिश करेगी। पौड़ी गढ़वाल सीट पर पूर्व सैनिकों और उनके परिवारों से जुड़े मतदाताओं का दबदबा है। सैनिकों से जुड़े मुद्दे इस वक्त गरम हैं। खंडूड़ी की पूर्व सैनिकों के बीच अच्छी पैठ मानी जाती है। हालांकि, उनके बेटे मनीष का सेना से वास्ता नहीं रहा है, लेकिन कांग्रेस को लगता है कि सैनिक परिवार से होने और पूर्व मुख्यमंत्री खंडूड़ी के बेटे के नाते उन्हें पूर्व सैनिकों के बीच चुनावी माहौल बनाने में दिक्कत नहीं होगी। कांग्रेस इस दांव से मनीष खंडूड़ी के जरिए पूर्व सैनिकों के बीच पैठ बनाने की रणनीति पर भी काम कर रही है। प्रदेश कांग्रेस का एक खेमा बीसी खंडूड़ी को रक्षा मामलों की संसदीय समिति के अध्यक्ष पद से अलग करने को भी मुद्दा बनाने की रणनीति पर काम कर रहा है। खडूड़ी की अध्यक्षता वाली समिति ने सेना के लिए बजट की  कमी से लेकर आधुनिक हथियारों की जरूरत पर सरकार को रिपोर्ट सौंपी थी। कांग्रेस चुनाव में इस मुद्दे को हवा देने की तैयारी कर रही है कि खंडूड़ी जैसे वरिष्ठ नेता को सेना के हित में दी गई उस रिपोर्ट की सजा दी गई।

भाजपा का राष्ट्रवाद कोरा नारा है। भाजपा को केवल सत्ता चाहिए, इसके लिए वह किसी को भी दांव पर लगा सकती है। जनरल खंडूड़ी की अध्यक्षता वाली रक्षा समिति की रिपोर्ट पर अमल न करना इसे साबित करता है। कांग्रेस जनता के सामने भाजपा की असलियत को लाने का काम करेगी। 
अनुग्रह नारायण सिंह, प्रदेश कांग्रेस प्रभारी


पिता का प्रचार संभालते रहे हैं मनीष
सोशल मीडिया पर जनरल खंडूड़ी और मनीष के मतभेदों की चर्चा भी चल पड़ी है। हालांकि, खंडूड़ी के चुनाव प्रचार का काम मनीष ही देखते रहे हैं। मीडिया सेक्टर से जुड़े मनीष लंबे समय से अपने पिता की राजनीतिक जमीन को बेहद खामोशी के साथ पुख्ता करने में जुटे रहे हैं। पौड़ी गढ़वाल सीट पर बीसी खंडूड़ी के साथ उन्हें कार्यकर्ता के रूप में देखा जाता रहा है।
 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:congress to sensitize voters on issues raised by maj gen bc khanduri during lok sabha election 2019 in uttarakhand