DA Image
8 अगस्त, 2020|2:50|IST

अगली स्टोरी

उत्तराखंड: राहुल गांधी के फॉर्मूले से कई दावेदारों के टिकट पर संकट

लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्याशी चयन प्रक्रिया में कांग्रेस हाईकमान का फॉर्मूला राज्य के कई नेताओं पर भारी पड़ने जा रहा है। राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने  बार चुनाव हार चुके नेताओं और राज्यसभा सांसदों को प्रत्याशी नहीं बनाने को कहा है। दो रोज पहले दिल्ली की बैठक में इस पर सहमति बनी कि जिताऊ दावेदार न मिलने पर ही राज्यसभा सांसद को आम चुनाव का टिकट देने पर विचार किया जाए। इस फॉर्मूले की जद में राज्य के कई नेता आ रहे हैं। टिहरी सीट से दावेदार पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय दो बार चुनाव हार चुके हैं। इसी सीट से दूसरे दावेदार जोत सिंह गुनसोला भी चुनाव में दो बार हार का सामना कर चुके हैं। मातबर सिंह कंडारी 2012 में हारने के बाद दोबारा मैदान में नहीं उतरे। टिहरी सीट के एक और बड़े दावेदार हीरा सिंह बिष्ट भी 2012 और 2017 में चुनाव हार चुके हैं। हां, 2014 में कांग्रेस सरकार के वक्त वो उपचुनाव जीते थे। शूरवीर सिंह सजवाण भी दो बार चुनाव हारे हैं। नैनीताल सीट से दावेदार तिलक राज बेहड़ 10 साल से विधानसभा से ही बाहर हैं। वहीं, अल्मोड़ा सीट के दावेदार प्रदीप टम्टा इस वक्त राज्यसभा सांसद हैं।


रावतजी बड़े नेता, आवेदन की जरूरत नहीं : प्रीतम सिंह
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने दून में  पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत का नाम हरिद्वार सीट के पैनल में न होने से उठे विवाद का पटाक्षेप कर दिया। पैनल में केवल जिला स्तर पर आवेदन करने वालों के नाम रविवार को राजीव भवन में मीडिया से मुखातिब प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि हरीश रावत कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं। उन्होंने कहा, रावत पूर्व मुख्यमंत्री, राष्ट्रीय महासचिव और असम प्रभारी भी हैं। ऐसे में बड़े नेताओं को टिकट के लिए आवेदन करने की जरूरत नहीं होती। उन्होंने कहा कि पैनल में केवल उन्हीं के नाम होते हैं, जिन्होंने जिला स्तर पर आवेदन किए थे।


सभी कार्यकर्ताओं को पद मिले, यह मुमकिन नहीं
प्रदेश कार्यकारिणी के गठन में देरी और गुटबाजी को कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि हाल ही में बनी समितियों में पार्टी नेताओं को जिम्मेदारी दी गई है। यह भी मुमकिन नहीं है कि प्रदेश कार्यकारिणी में हर कार्यकर्ता को पद दे दिया जाए। जल्द ही कार्यकारिणी की घोषणा की जाएगी। वैसे पुरानी टीम मौजूदा समय में भी बेहतर काम कर रही है।


हीरा ने टिहरी सीट से किया आवेदन
पूर्व काबीना मंत्री हीरा सिंह बिष्ट ने रविवार को महानगर कांग्रेस कार्यालय में टिहरी लोकसभा सीट के टिकट के लिए आवेदन कर दिया। टिहरी सीट पर हीरा सिंह को भी मजबूत दावेदार माना जा रहा है। रविवार को दून में पुतला दहन के बाद राजीव भवन में हीरा सिंह ने कांग्रेस के महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा को अपना आवेदन सौंप दिया।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:congress national president rahul gandhi formula would drop congress contenders name for lok sabha election