DA Image
8 अगस्त, 2020|11:32|IST

अगली स्टोरी

कांग्रेस: छोटा सत्र गैरसैंण का अपमान, सत्र की अवधि बढ़ाए सरकार

बजट सत्र की अवधि को लेकर कांग्रेस ने सरकार की घेराबंदी शुरू कर दी। बजट सत्र सरीखे महत्वपूर्ण आयेाजन को चार दिन तक सीमित रखने को कांग्रेस ने गैरसैंण का भी अपमान करार दिया है। विधायक दल के उपनेता करन माहरा ने सोमवार को विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल से उनके आवास पर मुलाकात की। उन्होंने विस अध्यक्ष से सत्र की अवधि बढ़ाने की मांग की। बाद में मीडिया से बातचीत में माहरा ने कहा कि बजट सत्र तीन मार्च से छह मार्च तक चलेगा। चार दिन की अवधि में राज्यपाल का अभिभाषण, सत्र की सामान्य कार्यवाही, विभागवार चर्चाएं चार दिन में होना नामुमकिन है। बहुमत का दुरूपयोग करते हुए सरकार बजट सत्र की केवल औपचारिकता पूरी करना चाहती है। यूपी में भी भाजपा की ही सरकार है लेकिन वहां एक महीने का सत्र हो रहा है।

करन ने सोमवार के सत्र की शुरूआत न करने पर भी सवाल उठाए। कहा कि सोमवार का दिन मुख्यमंत्री के विभागों से जुड़े सवालों का होता है। हर विधायक चाहता है कि मुख्यमंत्री उनके सवालों का जवाब दें। मुख्यमंत्री के जवाब के मायने होते हैं। पर, सरकार हर बार सोमवार को सत्र टाल रही है। यह बहुत ही गलत परंपरा है।
करन ने सत्ता पक्ष के विधायकों के सवाल न लगाने के आरोपों पर भी सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि सत्र के दौरान विधायकों द्वारा उठाए जाने वाले सवालों पर संसदीय कार्यमंत्री जवाब तो देते हैं। पर,  उनके आश्वासनों पर कार्रवाई नहीं हेाती। सरकार की इस उदासीनता से नौकरशाही बेलगाम होती जा रही है।

 

प्रीतम-इंदिरा भी बोले- सत्र की अवधि बढ़ाए सरकार
नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा ह्दयेश और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने बजट सत्र की छोटी अवधि पर हैरानी जताई। उन्होंने कहा कि सरकार विपक्ष के सवालों से बचना चाहती है। इसलिए जानबूझ का सत्र की अवधि को छोटा रखा गया है। इस बारे में मुख्यमंत्री से बात कर सत्र की अवधि बढ़ाने का अनुरेाध किया जाएगा।


'' करन माहरा और कई और विधायकों ने मेरे सामने सत्र की अवधि पर अपनी बात रखी है। सभी का कहना है कि चार दिन का वक्त पर्याप्त नहीं है। मैं इस बारे मुख्यमंत्री से चर्चा करूंगा।
प्रेमचंद अग्रवाल, विधानसभा अध्यक्ष ''
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:congress demands to increase budget session slated to take place in gairsain in uttarakhand