ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तराखंडबेरोजगारों को नौकरी देने वाली कंपनियों की होगी जांच, इसलिए आई नौबत

बेरोजगारों को नौकरी देने वाली कंपनियों की होगी जांच, इसलिए आई नौबत

निदेशालय की जांच में नौकरी पाने वाले 4350 युवा अब संबंधित औद्योगिक इकाई (कंपनी) में नौकरी कर रहे हैं या नहीं, आदि पहलुओं को भी शामिल किया गया है। कंपनियों की जांच की जाएगी।

बेरोजगारों को नौकरी देने वाली कंपनियों की होगी जांच, इसलिए आई नौबत
Himanshu Kumar Lallहल्द्वानी, प्रमोद डालाकोटीTue, 28 May 2024 03:53 PM
ऐप पर पढ़ें

उत्तराखंड में सेवायोजन विभाग की ओर से लगाए जाने वाले रोजगार मेलों में बीते दो वर्षों में नौकरी देने वाली 106 से अधिक कंपनियों की सेवायोजन निदेशालय जांच करेगा। नौकरी देने के कुछ समय बाद युवाओं को कंपनी से बाहर करने की अब तक 20 से 25 शिकायतें मिलने के बाद राज्य के सेवायोजन निदेशक संजय कुमार ने सोमवार को इसकी जांच के आदेश दिए हैं।

निदेशालय की जांच में नौकरी पाने वाले 4350 युवा अब संबंधित औद्योगिक इकाई (कंपनी) में नौकरी कर रहे हैं या नहीं, आदि पहलुओं को भी शामिल किया गया है। उन्हें तय मानदेय और भत्ते दिए जा रहे हैं या नहीं, इसकी भी जांच की जाएगी। सहायक निदेशक ममता चौहान नेगी ने बताया कि निदेशक की ओर से उन्हें जांच के आदेश मिल गए हैं। आचार संहिता वापस होने के बाद कंपनियों में जाकर जांच की जाएंगी।

इसलिए जांच की नौबत आई
दरअसल राज्य में बीते दो साल में 300 रोजगार मेले आयोजित हुए। 25 हजार से अधिक युवा इन मेलो में नौकरी के लिए पहुंचे। रोजगार मेलों में 106 बड़ी कंपनियों के अलावा छोटे उद्योगों ने भी भागीदारी की। चयनित 4350 युवाओं को उद्योगों सहित अन्य उपक्रमों में स्थाई और अस्थाई रोजगार मिला।

लेकिन सेवायोजन निदेशालय को शिकायतें मिल रही थीं कि जिन युवाओं को रोजगार मेले के जरिए नौकरी के लिए औद्योगिक इकाइयां चयनित कर ले जाती हैं, उनमें से कई को कुछ समय बाद नौकरी से निकाल देती हैं। इन दो वर्षों की अवधि में ऐसे करीब 20 से 25 मामलों की शिकायत मिलने की पुष्टि सेवायोजन निदेशालय ने की है।

बीते दो साल में रोजगार मेलों में जिन युवाओं को उद्योगों में नौकरी के लिए चयनित किया गया, वह अभी नौकरी कर रहे हैं या नहीं। कहीं उनको नौकरी से निकाला तो नहीं, इसकी जांच करने के आदेश सहायक निदेशक को दिए गए हैं।
संजय कुमार, सेवायोजन निदेशक, उत्तराखंड