chief minister ts rawat corners former chief minister harish rawat over sting issue in uttarakhand - हरीश ब्लैकमेलरों को साथ रखेंगे तो बचेंगे कैसे : सीएम त्रिवेंद्र रावत DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरीश ब्लैकमेलरों को साथ रखेंगे तो बचेंगे कैसे : सीएम त्रिवेंद्र रावत

trivendra singh rawat

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के खिलाफ विधायकों के खरीद-फरोख्त के स्टिंग मामले में सीबीआई के हाईकोर्ट में मुकदमा दर्ज करने संबंधी जानकारी देने पर सीएम त्रिवेंद्र रावत ने तंज कसा। उन्होंने कहा कि हरीश ब्लैकमेलरों को साथ रखेंगे तो बचेंगे कैसे? वर्ष 2016 में विधायकों की खरीद-फरोख्त के कथित स्टिंग को लेकर सीबीआई पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पर मुकदमा दर्ज करने जा रही है। इस मामले में हरीश रावत ने मंगलवार को केंद्र सरकार और सीबीआई पर निशाना साधा था। उन्होंने ‘मेरे घर में डकैती, मुझ पर ही इल्जाम’ की बात कहते हुए निशाना साधा था।  इसी को लेकर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने बुधवार को पूर्व सीएम हरीश रावत पर जुबानी हमला बोला। राष्ट्रीय पोषण अभियान के तहत अजबपुरकलां में बालिका को गोद लेने के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीतिक और सामाजिक जीवन में रहने वालों को मर्यादाओं में रहना चाहिए। नहीं तो किसी के भी साथ ऐसी स्थिति आ सकती है। ब्लैकमेलरों को जो अपने साथ रखेगा, उसका यही नतीजा होगा। उन्होंने कहा कि हरीश रावत को बोलने से पहले यह सोचना चाहिए कि ऐसी स्थिति आखिर क्यों आई है?

 

हरीश पर भाजपा नहीं कानून का फंदा: भट्ट
देहरादून। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और सांसद अजय भट्ट ने पूर्व सीएम हरीश रावत के उन आरोपों को निराधार बताया, जिसमें उन्होंने कहा था कि उन्हें फंसाने के पीछे भाजपा सरकारें हैं। भट्ट बोले-गैरकानूनी काम करने वालों तक कानून खुद पहुंच जाता है। हरीश रावत भी उससे नहीं बच पाए। भट्ट ने साफ कहा कि उनके खिलाफ तत्कालीन राज्यपाल ने सीबीआई जांच की सिफारिश की थी। जांच हुई और उनके किए गलत काम सामने आ गए। अब इसमें भाजपा का क्या दोष है। 

 

हरीश के समर्थन में एकजुट हुई कांग्रेस
देहरादून। पूर्व सीएम हरीश रावत के खिलाफ सीबीआई की संभावित कार्रवाई के खिलाफ कांग्रेस ने मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेस ने साफ किया कि प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में पूरी पार्टी रावत के साथ खड़ी है। कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर मनमानी का आरोप लगाते हुए सड़कों पर उतरने की चेतावनी दी। पार्टी के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि कांग्रेस की आवाज दबाने को केंद्र सरकार खुलेआम केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है। कांग्रेसियों को कहीं सीबीआई, तो कहीं ईडी, इनकम टैक्स के जरिए डराया-धमकाया जा रहा है। हरीश रावत पर सीबीआई की घेरेबंदी, उल्टा चोर कोतवाल को डांटे वाली कहावत को चरितार्थ कर रही है। सबको पता है कि मार्च 2016 में बीजेपी की केंद्र सरकार के इशारे पर कांग्रेस के 10 विधायकों को खरीदा गया। भाजपा ने राज्य की चुनी कांग्रेस सरकार को गिराया। कांग्रेस को इस मामले में हाईकोर्ट व सुप्रीमकोर्ट से न्याय मिला था। कांग्रेस की सरकार न सिर्फ बहाल हुई, बल्कि सदन में बहुमत भी हासिल किया। ऐसे में हरीश रावत के स्तर से विधायकों की खरीद-फरोख्त कहां हुई। 


 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:chief minister ts rawat corners former chief minister harish rawat over sting issue in uttarakhand