DA Image
26 फरवरी, 2021|8:15|IST

अगली स्टोरी

विस सत्र: मानसून सत्र के स्वरूप पर जल्द होगा फैसला,वर्चुअल पर भी विचार 

23 से 25 सितंबर के प्रस्तावित मानसून सत्र का स्वरूप क्या होगा, इस पर अंतिम निर्णय मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत और विस अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के निरीक्षण के बाद ही लिया जाएगा। मुख्यमंत्री बुधवार तीन बजे विधानसभा का निरीक्षण करेंगे। विस अध्यक्ष ने मंगलवार को बताया कि सत्र तय समय पर होगा, लेकिन इसे कोरोना के प्रकोप से कैसे बचाया जाए, इस पर मंथन जारी है। सदन में वर्तमान में मौजूदा विधायकों के अनुसार बैठने की व्यवस्था है। कोविड प्रोटोकॉल के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बैठने पर जगह कम पड़ सकती है।

नेगी के निधन पर शोक: विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने भाजपा नेता ज्ञान सिंह नेगी के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने कहा कि नेगी ने उत्तराखंड में शिशु मंदिर और विद्यामंदिर स्थापित किए जाने में अहम भूमिका निभाई। 

सदन क्षेत्र का विस्तार संभव
स्पीकर बोले, विधायकों के लिए दर्शक दीर्घा, पत्रकार दीर्घा का प्रयोग किया जा सकता है। इस क्षेत्र को सदन में शामिल किया जा सकता है। 60 वर्ष से अधिक उम्र के विधायको को सत्र में नहीं बुलाने के साथ ही वर्चुअल माध्यम से जुड़ने पर विचार किया जा रहा है। पर, अंतिम निर्णय से पहले, मुख्यमंत्री विधानसभा का स्थलीय निरीक्षण करेंगे।


 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:chief minister trivendra rawat vidhan sabha speakers premchand agarwal to decide on monsoon session vidhan sabha session 23 september