ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तराखंडमुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जल्द बांट सकते हैं दायित्व, भाजपा नेताओं में बढ़ी बैचेनी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जल्द बांट सकते हैं दायित्व, भाजपा नेताओं में बढ़ी बैचेनी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कुछ नेताओं को दायित्व बांट सकते हैं। सूत्र बताते हैं कि भाजपा प्रदेश संगठन की ओर से उत्तराखंड में इसके लिए कवायद शुरू की जा रही है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जल्द बांट सकते हैं दायित्व, भाजपा नेताओं में बढ़ी बैचेनी
Himanshu Kumar Lallदेहरादून, मुख्य संवाददाताSun, 20 Nov 2022 09:53 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कुछ नेताओं को दायित्व बांट सकते हैं। भाजपा प्रदेश संगठन की ओर से इसके लिए कवायद शुरू की जा रही है। पार्टी के लिए लम्बे समय से समर्पित होकर काम कर रहे कुछ नेताओं की सूची तैयार की जा रही है। यह सूची जल्दी ही प्रदेश संगठन की ओर से मुख्यमंत्री धामी को सौंपी जा सकती है।

उत्तराखंड में सरकार के गठन के बाद से ही भाजपा के कई नेता दायित्व का इंतजार कर रहे हैं। पार्टी के अंदरूनी सूत्रों के अनुसार, एक हजार से अधिक बड़े नेता विभिन्न दायित्वों और राज्य मंत्री स्तर का दर्जा पाने के लिए बेताब हैं। कई नेता इसके लिए केंद्रीय संगठन तो कई राज्य संगठन की प्रक्रिमा कर चुके हैं।

हालांकि काफी समय से सरकार दायित्व आवंटन को टाल रही थी। लेकिन अब सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अब नए साल के शुरू में दायित्व वितरण की शुरूआत करने वाले हैं। इसके लिए मुख्यमंत्री धामी की ओर से प्रदेश संगठन से कुछ नामों की सूची भी मांगी गई है।

विदित है कि पार्टी के कई नेताओं ने दायित्व के लिए प्रदेश संगठन में बकायदा दावेदारी की है। इसके बाद अब भाजपा का प्रदेश संगठन भी दायित्व आवटन के लिए हरकत में आ गया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा कि पार्टी में मोर्चा, जिला और मंडल कार्यकारणी गठित करने के लिए समय सीमा तय करने के बाद पार्टी के कार्यकर्ताओं को नए साल पर तोहफे दिए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दायत्व आवंटन के लिए प्रदेश संगठन से सूची मांगी है और जल्द सूची सौंपी जाएगी। कहा कि अंतिम फैसला सीएम धामी का ही होगा। हालांकि, राजनीतिक सूत्र बताते हैं कि दायित्व बंटवारे के लिए हाईकमान से भी बात की जाएगी।