DA Image
21 जनवरी, 2020|11:41|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Lok Sabha Election 2019: सोशल मीडिया पर नजर रखेगा आयोग

मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को सोशल मीडिया की मानीटरिंग कर हर दिन निर्धारित प्रारूप पर रिपोर्ट देने को कहा है। साथ ही राज्य के सभी पोलिंग बूथों का प्रस्ताव मंगलवार शाम तक मांगा गया है। नए या परिवर्तित बूथ की सूचना भी तत्काल देने को कहा है।  मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने मंगलवार को सचिवालय में सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेसिंग कर आचार संहिता का कड़ाई से पालन करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी जिलों में एमसीएमसी के सोशल मीडिया, प्रिन्ट और इलेक्ट्रोनिक मीडिया की मॉनीटरिंग की जाएगी। इसकी रिपोर्ट निर्धारित प्रारूप पर हर दिन प्रेषित की जाए। उन्होंने सी-विजिल एप पर निरन्तर निगरानी को भी कहा।  मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने सभी पोलिंग बूथों का प्रस्ताव मंगलवार शाम तक भेजने को कहा।उन्होंने मतगणना केन्द्र की व्यवस्था, आचार सहिंता के बाद सत्ता पक्ष की उपलब्धियों के विज्ञापनों, पक्षपातपूर्ण प्रचार प्रसार पर नजर रखने और सरकारी वेबसाइटों से राजनैतिक व्यक्तियों के सभी प्रकार के फोटो एव उपलब्धियों का विवरण हटाने के निर्देश दिए।  


अनुमति के बाद ही चलाया जा सकेगा वीडियो संदेश
देहरादून। लोकसभा चुनाव का काउंटडाउन शुरू होते ही प्रशासन ने टिहरी संसदीय क्षेत्र के प्रत्याशियों के प्रचार प्रसार की अनुमति के लिए मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मॉनीटरिंग सेल का गठन कर दिया है। विकासभवन में सेल का केबिन बना दिया गया है। इस सेल का काम वीडियो, सोशल मीडिया में प्रचारित संदेशों की निगरानी करनी होगी। आपत्ति होने पर सेल वीडियो, विज्ञापन में किसी भी तरह की कांट-छांट कर सकेगी। जिला निर्वाचन अधिकारी एसए मुरूगेशन ने बताया कि किसी भी तरह के विज्ञापन, सोशल मीडिया, टेलीविजन, वीडियो आदि से प्रचार करने के लिए पहले मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मॉनीटरिंग सेल की अनुमति लेनी होगी। बिना अनुमति के प्रचार करना नियमों का उल्लंघन होगा। सेल को किसी भी तरह की आपत्ति होने पर काट-छांट का पूरा अधिकार होगा।
 

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:chief electoral officer saujanya instructs district election officers to keep an eye on social eye to check violation of model code of conduct imposed for lok sabha election in uttarakhand