DA Image
1 अगस्त, 2020|10:46|IST

अगली स्टोरी

परेशानी: उत्तराखंड में बारिश  की वजह से 211 सड़कें बंद, चारधाम यात्रा भी प्रभावित 

राज्य में बारिश की वजह से 211 सड़कें बंद हो गई। इस वजह से लोगों को आवाजाही में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बारिश की वजह से राज्य में चार राष्ट्रीय राजमार्ग, आठ स्टेट हाईवे और छह जिला मार्ग बंद चल रहे हैं। लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता हरिओम शर्मा ने बताया कि सड़कों को खोलने का काम तेज गति से किया जा रहा है।

शनिवार को राज्यभर में 116 सड़कें बंद हुई। जबकि कुल 117 सड़कों को यातायात के लिए खोला गया। इसके बाद अब 211 सड़कें बंद हैं। शर्मा ने बताया कि राज्यभर में लोनिवि की कुल 125 जबकि पीएमजीएसवाई की 86 ग्रामीण सड़कें बंद चल रही हैं।

उन्होंने बताया कि सड़कों को खोलने के लिए 313 जेसीबी और पोकलैंड मशीनें लगाई गई हैं। उन्होंने बताया कि लोनिवि के सभी अधिशासी अभियंताओं को निर्देश दिए गए हैं कि प्रमुख सड़कों को प्राथमिकता के आधार पर खोला जाए। 

 

तीन घंटे बाधित रहा बदरीनाथ हाईवे, चमोली जिले में 20 लिंक मार्ग अवरुद्ध 
गोपेश्वर।  बदरीनाथ हाईवे बाजपुर और लामबगड़ में मलबा आने  3 घंटे से अधिक समय तक बाधित रहा। सड़कों पर मलबा आने से जिले  20 ग्रामीण लिंक मार्ग भी बाधित रहे । इन्हें सुचारु करने में  लोनिवि,पी एम जी एस वाई की मशीने व मजदूर जुटे हैं । जिले मे़   बारिश और भूस्खलन से बदरीनाथ हाईवे बार-बार अवरुद्घ हो रहा है।  

शुक्रवार की रात्रि व शनिवार को हाईवे बाजपुर और लामबगड़ में करीब तीन घंटे  से अधिक समय तक अवरुद्घ रहा। बाजपुर में खड़ी और खतरनाक बनी चट्टान से रुक-रुककर मलबा और बोल्डर हाईवे पर गिर रहे हैं। जिससे यहां पर वाहनों की आवाजाही मुश्किल से हो पा रही है।

शुक्रवार रात को बारिश होने से सुबह पांच बजे बाजपुर और लामबगड़ में मलबा और बोल्डर हाईवे पर आ गए। सुबह छह बजे मशीनों से मलबा हटाने का काम शुरु हुआ। जिसके बाद सुबह आठ बजे वाहनों की आवाजाही सुचारु हो पाई। बारिश होने पर दोबारा हाईवे के अवरुद्घ होने के आसार बने हुए हैं।

केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग सौड़ी के पास दस घंटे रहा बन्द
अगस्त्यमुनि। शुक्रवार रात भारी बारिश के चलते केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग सौड़ी के पास अंधेरगढ़ी में भारी मलबा आने से 10 घण्टे से अधिक समय तक बन्द रहा। इस दौरान दोनों ओर वाहनों की लम्बी कतारें लगी रही। इस मार्ग पर लोगों को आवाजाही करने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। केदारनाथ जाने वाले यात्रियों ने वैकल्पिक मार्ग बसुकेदार होते हुए आवाजाही की किंतु स्थानीय लोगों को बड़ी दिक्कतें उठानी पड़ी।

केदारनाथ हाईवे पर चौड़ीकरण के चलते कई स्थानों पर अब बरसात होते ही मुसीबतें पैदा हो रही है। अनियोजित कटिंग के चलते क्षेत्रीय लोगों को परेशानियां उठानी पड़ रही है। केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर कई नए भूस्खलन जोन बन गए हैं। जो लगातार खतरा बने हैं। इस राष्ट्रीय राजमार्ग पर बांसवाड़ी, फाटा तथा अंधेरगढ़ी ऐसे ही नए जोन है जहां भूस्खलन का खतरा तो बना ही है साथ ही दुर्घटना की भी आंशका बनी है।

इन स्थानों पर  यात्रा करने के लिए लोग जान हथेली पर लेकर चल रहे हैं। शुक्रवार रात्रि को क्षेत्र में हुई मूसलाधार बारिस से राष्ट्रीय राजमार्ग सौड़ी के पास अंधेरगढ़ी के पास रात्रि लगभग 2 बजे भारी मलबा आने बन्द हो गया। एनएच कर्मियों ने भारी मशक्कत के बाद दोपहर साढ़े बारह बजे मलबे को साफ कर आवाजाही प्रारम्भ कराई। बाद में किसी तरह यहां आवाजाही शुरू हो सकी। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:char dham chadi yatra routes among national highway closed due to landslide triggered by incessant rainfall in rudraprayag chamoli dehradun pauri tehri bageshwar pithoragarh districts in uttarakhand